Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बच्चों को ऐसे बताएं ''गुड टच-बैड टच'', बच सकती है मासूम की जान

मालविका राव बताती हैं कि बच्चों को फीजिकल अपीयरेंस के बारे में बताना बहुत जरूरी है। उन्हें बताएं कि उनके प्राइवेट पार्ट्स को अगर कोई टच करता है तो वह बैड टच है। आप बच्चों से कहें कि अगर ऐसा कोई करता है तो वह मम्मी-मम्मी या पापा-पापा कहकर चिल्लाएं।

Next Story