Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चाहती हैं अपने लिए जीना तो आपको जरूर पता होनी चाहिए सुष्मिता की ये बातें, मिलेगी प्रेरणा

क्या सोचेंगे के चक्कर में अपनी जिंदगी तक दाव पर लगा देते हैं औप अपने लिए जीना ही छोड़ देते हैं। ऐसे में बॉलीवुड एक्ट्रेस सुष्मिता सेन काफी लोगो के लिए इंस्प्रेशन हैं। सुष्मिता ने लोगों की परवाह किए बिना कुछ ऐसे काम किए हैं जिसके चलते वो कई महिलाओं के लिए प्रेरणा बन गई है। सुष्मिता ने साबित किया है कि अगर हम यह सोचना छोड़ दें कि लोग क्या सोचेंगे तो लाइफ और भी ज्यादा खूबसूरत बन जाती है और आप एक बेहतर इंसान बनते हैं। इसी बीच आज हम आपको सुष्मिता की कुछ बातें बताने जा रहे हैं जो लोगों को प्रेरणा देती है।

चाहती हैं अपने लिए जीना तो आपको जरूर पता होनी चाहिए सुष्मिता की ये बातें, मिलेगी प्रेरणा
X
सुष्मिता सेन की ये बातें देती हैं लोगों को प्रेरणा (फाइल फोटो)

आप भी इस बात से सहमत होंगे कि भारतीय लोग ज्यादातर इस बात पर ही घिरे रहते हैं कि लोग क्यो सोचेंगे। लोग क्या सोचेंगे के चक्कर में अपनी जिंदगी तक दाव पर लगा देते हैं औप अपने लिए जीना ही छोड़ देते हैं। ऐसे में बॉलीवुड एक्ट्रेस सुष्मिता सेन काफी लोगो के लिए इंस्प्रेशन हैं। सुष्मिता ने लोगों की परवाह किए बिना कुछ ऐसे काम किए हैं जिसके चलते वो कई महिलाओं के लिए प्रेरणा बन गई है। सुष्मिता ने साबित किया है कि अगर हम यह सोचना छोड़ दें कि लोग क्या सोचेंगे तो लाइफ और भी ज्यादा खूबसूरत बन जाती है और आप एक बेहतर इंसान बनते हैं। इसी बीच आज हम आपको सुष्मिता की कुछ बातें बताने जा रहे हैं जो लोगों को प्रेरणा देती है।

मुसीबत से डर कर पीछे नहीं भागना

साल 1994 में सुष्मिता सेन मिस यूनिवर्स बनी थी। इससे पहले उनका कॉम्पीटीशन (Competition)एश्वर्या से हुआ था। जिसमें कई लड़कियों ने एश्वर्या का नाम सुनते ही अपने कदम पीछे कर लिए थे। लेकिन सुष्मिता हार मानने वालों में से नहीं थीं। सुष्मिता ने इस कॉम्पीटीशन में भाग भी लिया और विनर भी बनीं।

बेटी को गोद लिया

आज भी देश में लोग सिंगल पैरेंट के कॉन्सेप्ट को अपनाने को तैयार नहीं है। ऐसे में 24 साल की उम्र में बेटी को गोद लेने का फैसला लोगों को चौंकाने वाला था। इसके लिए सुष्मिता को बहुत खरी खोटी भी सुननी पड़ी थी। लोगों की परवाह न करते हुए उन्होंने अपनी बेटी की अच्छी परवरिश भी और अपना आत्मविश्वास भी बनाए रखा। इसके बाद सुष्मिता ने एक बेटी को और गोद लिया। एक वक्त पर जो लोग सुष्मिता को खरी खोटी सुनाते थे आज वही लोग उन्हें सम्मान की नजरों से देखते हैं।

शादी का दबाव नहीं

पहले के मुकाबले भले ही समाज काफी बदल क्यों न गया हो, लेकिन आज भी लोग लड़की की शादी सही समय पर न होने पर काफी बातें बनाते हैं। ऐसा ही कुछ सुष्मिता के साथ भी हुआ था। लेकिन सुष्मिता ने कभी भी अपना आत्मविश्वास नहीं खोया। अपनी फैमिली के स्पोर्ट के कारण वो हमेशा खराब रिलेशनशिप में फंसने से बचती रहीं। वहीं शादी के सवाल को लेकर उनके पिता का जवाब होता था कि क्या आपको लगता है कि मैंने अपनी बेटी की परवरिश ऐसी की है कि वह बस किसी की मिसिज बनकर पहचानी जाए?

Also Read: कहीं आपका पार्टनर आपको सिर्फ एक ऑप्शन तो नहीं समझता, इन संकेतों से लगाएं पता

अपनी उम्र से कम उम्र के लड़के से प्यार

सुष्मिता ने कभी भी अपनी लव लाइफ को छिपाया नहीं। अपनी उम्र से 15 साल कम उम्र के लड़के को डेट करने की बात को उन्होंने कभी नहीं छिपाया। इसके लिए भी उन्हें काफी सुननी पड़ी थी। फिर भी उन्होंने कोई परवाह नहीं की और न इसका असर उन्होंने अपने रिलेशन पर पड़ने दिया। आज सुष्मिता सेन और रोहमन शॉल बेस्ट कपल में गिने जाते हैं।

Next Story