Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: कोरोना वायरस ने सिखाया बहुत कुछ, लोगों में हो सकते हैं ये बदलाव

Coronavirus: कोरोना वायरस के कारण लोगों की आदतों में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। इंसान हर परेशानी से कुछ न कुछ जरूर सीखता है। वहीं कोरोना वायरस जैसी विपदा ने इंसान को बहुत कुछ सिखाया है। इसी बीच आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कोरोना के बाद इंसान में क्या बदलाव आएंगे।

Coronavirus: कोरोना वायरस ने सिखाया बहुत कुछ, लोगों में हो सकते हैं ये बदलाव
X
कोरोना वायरस

Coronavirus: कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में लॉकडाउन किया गया है। जिसके चलते लोगों को घर से बाहर निकलना सख्त मना है। वहीं लोगों को घर पर ही रहना पड़ रहा है। जिस कारण लोगों की आदतों में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। इंसान हर परेशानी से कुछ न कुछ जरूर सीखता है। वहीं कोरोना वायरस जैसी विपदा ने इंसान को बहुत कुछ सिखाया है। इसी बीच आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कोरोना के बाद इंसान में क्या बदलाव आएंगे।

इंसान में आ सकते हैं ये बदलाव

- लोगों में सेहत को लेकर काफी सोच बदलेगी। पहले के मुकाबले अब लोग अपनी सेहत पर ज्यादा ध्यान देंगे।

- जहां लोग घर में कैद होने के कारण स्ट्रेस लेते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं लोगों में हैल्थी रहने की आदत भी आ रही है।

- लोग डाइट को लेकर काफी सर्तक हो गए हैं

- पुराने नियम अपनाते हुए दिखेंगे लोग, जैसे घर के अंदर आने से पहले फुटवियर को उतारना। कोरोना के बाद लोगों में ऐसे कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

- जहां पहले लोग अपनी लाइफ को लेकर काफी नेगेटिव थे। वहीं अब लग पहले के मुकाबले काफी पॉजिटिव दिखेंगे।

- जहां लॉकडाउन के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं लोगों में हालातों से सीखते हुए सेविंग हेबिट बढ़ेगी।

-लोगों में हेल्पिंग एटिट्यूट देखने को मिलेगा।

-एक बार फिर हमारा समाज अपनी जड़ों के महत्व को समझेगा।

आदतों में आया है बदलाव

लोगों में हैंड वॉश करने की आदत देखने को मिलेगी।

लोग पहले के मुकाबले काफी हाइजीन हो गए हैं।

फास्ट फूड के बजाए लोग अब हैल्थी फूड खाते हुए नजर आ रहे हैं।

प्रदूषण संबंधी बीमारियों पर लगा स्टॉप

जहां लोग प्रदूषण के कारण काफी परेशान थे। वहीं लॉकडाउन की वजह से प्रदूषण के स्तर में काफी कमी दर्ज हुई है। हवा, नदी और आसमान काफी साफ हो गए हैं। आसमान में ओजोन परत भी काफी कम हो गई है।

रिश्तों की सिखाई कद्र

जहां लोंग अपने बिजी शेड्यूल के कारण परिवार वालों के साथ बहुत कम समय बिता पाते थे। वहीं लॉकडाउन के कारण लोग फैमिली के साथ क्वालिटी टाइम स्पैंड कर रहे हैं। जिस कारण लोगों का बॉन्ड काफी स्ट्रांग हो रहा है।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story