Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

International Women''s Day Facts : महिला दिवस से जुड़ी रोचक बातें, आपको पता होनी चाहिए...

International Women''s Day Facts : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women''s Day 2019) हर साल 8 मार्च (8 March) को मनाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (Antarrashitriye Mahila Diwas / International Women''s Day History) की शुरूआत कब हुई थी। किसने इसे सबसे पहले मनाना शुरू किया था। इसके साथ ही दुनिया के किस हिस्से में महिला दिवस (Mahila Diwas Ka Itihas) पहली बार मनाया गया था। अगर नहीं, तो आज हम आपको अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस से जुड़ी रोचक बातें (International Women''s Day Facts) बता रहे हैं।

International Womens Day Facts :  महिला दिवस से जुड़ी रोचक बातें, आपको पता होनी चाहिए...
X

International Women's Day Facts : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day 2019) हर साल 8 मार्च (8 March) को मनाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (Antarrashitriye Mahila Diwas / International Women's Day History) की शुरूआत कब हुई थी। किसने इसे सबसे पहले मनाना शुरू किया था। इसके साथ ही दुनिया के किस हिस्से में महिला दिवस (Mahila Diwas Ka Itihas) पहली बार मनाया गया था। अगर नहीं, तो आज हम आपको अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस से जुड़ी रोचक बातें (International Women's Day Facts) बता रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : पहली बार किसने और कब मनाया

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को सबसे पहले अमेरिका के न्यूयार्क शहर में सोशलिस्ट पार्टी ने 28 फरवरी 1909 को मनाया था। महिला दिवस को मनाने का सुझाव भी एक महिला का ही था, जिनका नाम क्लारा जेटकिन (Clara Zetkin) था। वैसे तो, क्लारा एक मार्क्सवादी चिंतक और कार्यकर्ता थीं, मगर वो हमेशा महिलाओं के अधिकारों और महिलाओं पर होने वाले आत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाती थीं। 1910 में कोपेनहेगन में कामकाजी महिलाओं की एक इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस आयोजित हुई। जिसमें क्लारा जेटकिन ने कॉन्फ्रेंस में पहली बार इंटरनेशनल वुमेन्स डे मनाने का सुझाव दिया था। उस कॉन्फ्रेंस में 17 देशों की तकरीबन 100 महिलाएं शामिल हुई थीं और उन सभी महिलाओं ने क्लारा के इस सुझाव का समर्थन किया। तभी से पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाने लगा। आपको बता दें, सबसे पहली साल यानि 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया था। लेकिन शुरूआत में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस फरवरी के आखिरी रविवार को मनाया जाता था। हालांकि साल 2019 में हम 107वां अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मना रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : रूस से संबंध

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का रूस से भी संबंध रहा है। 1917 की बोल्शेविक क्रांति के दौरान रूस की महिलाओं ने सम्राट निकोलस के खिलाफ हड़ताल करने का फैसला किया। महिलाओं ने ये हड़ताल वोट देने की मांग को लेकर शुरू की थी। इस हड़ताल के असर को देखते हुए मौजूदा सम्राट ने सत्ता छोड़ दी और अन्तरिम सरकार ने महिलाओं को वोट देने के अधिकार दे दिया। जिस दिन रूस की महिलाओं ने हड़ताल शुरू की थी। उस दिन ग्रेगेरियन कैलैंडर के अनुसार 8 मार्च की तारीख थी। 8 मार्च को महिलाओं के वोट देने का अधिकार मिलने की वजह से तभी से हर साल 8 मार्च (8 March) को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day) के रूप में मनाया जाने लगा।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : UN ने दी मान्यता

साल 1975 में संयुक्त राष्ट्र से आधिकारिक रूप से मान्यता मिलने के बाद महिला दिवस को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाने की शुरूआत हुई।तब से इसे वार्षिक तौर पर एक थीम के साथ मनाना शुरू किया गया। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पहली थीम थी 'सेलीब्रेटिंग द पास्ट, प्लानिंग फॉर द फ्यूचर' (Celebrating the Past, Planning for the Future) थी। जबकि 2019 की अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम 'बैंलेस फॉर बैटर' (Balance for Better) रखी गई है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story