Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कहीं उल्टा न पड़ जाए 'चेचक' का इलाज, पहले जान लें ये जरूरी बात

चेचक को लेकर लोगों के बीच जानकारी का अभाव है। इस बिमारी में शरीर पर लाल दाने हो जाते हैं। जिसकी वजह से काफी दर्द और फीवर रहता है। आप इस बिमारी के इलाज तभी कर पाएंगे, जब आप इस बिमारी की जड़ तक और इस बिमारी के बारे में डिटेल से जान पाएंगे। तो चलिए, आपको इस बिमारी की बारीक से बारीक जानकारी देते है।

कहीं उल्टा न पड़ जाए चेचक का इलाज, पहले जान लें ये जरूरी बात
X
चेचक

Health Tips : चेचक इंफेक्शन से फैलने वाली एक गंभीर बीमारी है। इसमें शरीर पर अनगिनत लाल रंग के दाने या निशान आते हैं। जिसकी वजह से असहनीय दर्द और बुखार रहता है। चेचक को अंग्रेजी में चिकनपॉक्स (Chickenpox) कहा जाता है। जबकि भारत में चेचक को आम बोलचाल की भाषा में माता निकलना बोला जाता है। प्राचीन काल में इससे बचने का कोई इलाज नहीं था। लेकिन साल 1758 में पहला चेचक वैक्सीन का पहला सफल परीक्षण किया गया। जिसके बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 1980 में दुनिया को चेचक यानि चिकनपॉक्स की बीमारी से मु्क्त घोषित किया था। चेचक की बीमारी के समय पीड़ित के लिए साफ-सफाई और खास देखभाल की जरूरत होती है। इसलिए आज हम आपको चेचक क्या होता है (what is Chickenpox),चेचक के कारण, लक्षण और उसके उपचार (Chickenpox Symptoms Causes and treatment) बता रहे हैं।

क्या होता है चेचक (what is chickenpox)

चेचक चेहरे और शरीर पर निकलने वाले लाल या सफेद रंग के छालेनुमा दाने होते हैं। जिसकी वजह से पीड़ित को बुखार और असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर चेचक इंफेक्शन से होने वाली बीमारी है। चेचक क्योंकि एक संक्रामक बीमारी है, तो ऐसे में पीड़ित के सभी कामों को हमेशा दस्ताने पहन करना चाहिए या काम करने के बाद साबुन से हाथ जरूर धोएं। इससे आप स्वयं को इस गंभीर बीमारी से बचा सकेंगें।

चेचक के कारण (chickenpox causes)

1. दूषित खाद्य पादर्थों और पानी का सेवन करना

2. चेचक से पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने से

3. चेचक के पीड़ित की खांसी या छींक की वजह फैलने वाले बैक्टीरिया के संपर्क में आना




चेचक के लक्षण (chickenpox symptoms)

1. चेहरे, हाथ, पैर, पीठ पर लाल या सफेद रंग के चकत्ते या दानों का निकलना

2. अत्याधिक कमजोरी

3. बुखार का लंबे समय तक रहना

4. सिरदर्द और घबराहट रहना

5. पीठ में दर्द रहना

चेचक के उपचार (chickenpox treatment)

1. चेचक होने पर डॉक्टर की सलाह पर टीकाकरण करवाने के साथ एंटीबॉयोटिक दवाओं का इस्तेमाल फायदेमंद होता है।

2. चेचक को ठीक करने में घरेलू उपचार यानि आयुर्वेदिक उपाय भी कारगर साबित होते हैं। इसके लिए ताजी नीम की पत्तियों को पीसकर दानों पर लगाने खुजली और दर्द से राहत मिलती है।

3. चेचक के रोगी को केला, सेब और चावल के अलावा तरल पदार्थो का सेवन करवाना लाभदायक होता है।

4. चेचक के रोगी को दही, नारियल पानी जैसे शरीर को ठंडक देने वाले तरल पदार्थो का सेवन करवाना अच्छा होता है।

5. चेचक के समय मसालेदार, ऑयली और मांसाहारी भोजन खाने से बचना चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story