Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Health Tips: बच्चों में दिखाई दे रहे ये लक्षण तो हो सकते हैं Anxiety का शिकार, भूलकर भी न करें नजरअंदाज

Health Tips: बच्चों (Child) का समय-समय पर परेशान होना बिल्कुल सामान्य (Normal) है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चिंता (Anxiety) उनके विचारों (Thoughts) और व्यवहार (Behavior) को प्रभावित कर सकती है?अपनी इस स्टोरी में हम आपको बच्चो में तनाव के लक्षणों के बारे में बताएंगे...

Health Tips: बच्चों में दिखाई दे रहे ये लक्षण तो हो सकते हैं Anxiety का शिकार, भूलकर भी न करें नजरअंदाज
X

Health Tips: बच्चों (Child) का समय-समय पर परेशान होना बिल्कुल सामान्य (Normal) है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चिंता (Anxiety) उनके विचारों (Thoughts) और व्यवहार (Behavior) को प्रभावित कर सकती है? वे चिंतित हो जाते हैं और अकेलेपन का अनुभव भी कर सकते हैं। बच्चों में चिंता या तनाव (Anxiety or Stress) का पता लगाना इतना आसान नहीं है क्योंकि उन्हें इसे व्यक्त करने में मुश्किल हो सकती है कि वे कैसा महसूस करते हैं। चिंता के मुद्दे बच्चों को सामाजिक रूप से लोगों के साथ घुलने-मिलने या कुछ दैनिक गतिविधियों को करने से रोक सकते हैं। अच्छी बात यह है कि बच्चे थेरेपी से अपनी चिंताओं को आसानी से प्रबंधित करना सीख सकते हैं। अब सवाल उठता है कि बच्चों में बढ़ते तनाव को पहचाने कैसे? तो हम अपनी इस स्टोरी में आपको बच्चो में तनाव के लक्षणों (Signs of Anxiety in Children) के बारे में बताएंगे...

खाने और सोने में परेशानी

भूख कम लगना या बढ़ना चिंता का संकेत है। यदि आपका बच्चा भोजन के समय बहुत अधिक नखरे कर रहा है और यह पिछले कुछ समय से हो रहा है, तो यह तनाव का एक लक्षण हो सकता है। इसके अलावा बच्चों में तनाव उनकी नींद को भी प्रभावित कर सकता है। यदि आपका बच्चा रात में ठीक से सो नहीं पाता है, तो यह चिंता का संकेत हो सकता है। अगर आपके बच्चे को भूख या नींद से संबंधित करने की परेशानी रही है तो आप तुरंत किसी विषेशज्ञ से सलाह लें।

ग्रेड्स में लगातार गिरावट

यदि आपके बच्चे का प्रदर्शन स्कूल में खराब हो रहा है और वह पहले की तरह पढ़ाई में इंटरेस्ट नहीं दिखा रहा है, तो यह संभव हो सकता है कि वह चिंता से पीड़ित है।

हॉबीज में इंटरेस्ट कम हो जाना

लगभग हर बच्चे की कोई न कोई हॉबी होती है, इसके साथ ही बच्चे खेलने कूदने के मामले में काफी एक्टिव रहते हैं। अगर आपका बच्चा पहले के मुकाबले अपने हॉबी और एक्टिविटीज में कम इंटरेस्ट दिखा रहा है तो ये इस बात को दर्शाता है कि वह किसी बात को लेकर चिंतित है।

ज्यादा गुस्सा करना

अगर आपका बच्चा जो पहले हंसते खेलते अपने सभी काम करता था वह छोटी-छोटी बातों पर अचानक से गुस्सा करने लगा है तो इसे नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए। ऐसी परिस्थिती में पहले बच्चे से खुद बात करें और फिर भी कारण न पता चलने पर एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें।

अकेले रहना

हमेशा घुल-मिल के रहने वाला आपका बच्चा अगर अचानक से खेलने से कतराए, अकेला रहे या अपने दोस्तों से दूर- दूर रहने लगे तो समझ जाएं कि उसे कोई बात परेशान कर रही है।

बिस्तर गीला करना

आपका बच्चा अगर उमर बढ़ने के बावजूद अभी बिस्तर गीला करना और अंगूठा चूसना बंद नहीं कर रहा तो समझ जाए कि ये किसी समस्या का संकेत है। ऐसे में आपको तुरंत एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए।

अनियंत्रित व्यवहार

यदि आपको लगता है कि आपके बच्चे का व्यवहार लगातार बदल रहा है। जहां पहले आपका बच्चा आपकी हर बात मानता था वहीं वह अब आपको गुस्सा दिखाकर, उल्टा जवाब देकर आपकी कोई बात नहीं सुन रहा तो आपको किसी विशेषज्ञ से सलाह लेने की आवश्यकता है।

और पढ़ें
Next Story