Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्किन टोन के अकॉर्डिंग ही करें फाउंडेशन का सेलेक्शन, नहीं तो खराब हो सकता है मेकअप

मेकअप की शुरुआत में बेस के तौर पर फाउंडेशन का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपने लिए सही फाउंडेशन को चुनें। अगर फाउंडेशन को चुनने में किसी तरह की गलती हो जाए तो आपका पूरा मेकअप लुक ही बिगड़ सकता है।

स्किन टोन के अकॉर्डिंग ही करें फाउंडेशन का सेलेक्शन, नहीं तो खराब हो सकता है मेकअप
X

मेकअप में हर स्टेप, सभी ब्यूटी प्रोडक्ट्स इंपॉर्टेंट होते हैं। अगर आपने सही प्रोडक्ट, सही तरीके से यूज नहीं किया तो आपका लुक डल नजर आता है। खासकर, फाउंडेशन को लेकर आपको ज्यादा कॉन्शस रहना चाहिए। जानिए, स्किन टोन के अकॉर्डिंग परफेक्ट फाउंडेशन को किस तरह सेलेक्ट करें?

मेकअप की शुरुआत में बेस के तौर पर फाउंडेशन का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपने लिए सही फाउंडेशन को चुनें। अगर फाउंडेशन को चुनने में किसी तरह की गलती हो जाए तो आपका पूरा मेकअप लुक ही बिगड़ सकता है। आमतौर पर फाउंडेशन को चुनते समय कुछ बातों का खास ख्याल रखा जाना चाहिए। मसलन, आप अपनी स्किन टाइप, मौसम के अलावा स्किन टोन पर भी उतना ही फोकस करें। पहचानिए स्किन टोन

मार्केट में फाउंडेशन, स्किन टोन के हिसाब से मिलता है, उसकी पैकिंग में यह बात लिखी होती है। इसलिए पहले अपनी स्किन टोन को पहचानें। आमतौर पर स्किन टोन को तीन कैटेगिरी में बांटा जाता है- लाइट, मीडियम और डीप। इंडियन स्किन टोन, मीडियम स्किन टोन वाली होती है। मीडियम टोन को आगे बेज, टैन, हनी और दूसरे कलर्स शेड में सब-डिवाइड किया जाता है। अगर किसी फाउंडेशन को अप्लाई करने के बाद आपकी स्किन व्हीटिश या डार्क नजर आती है तो इसका मतलब है कि आपने गलत फाउंडेशन शेड को चुना है। इसलिए अपनी स्किन टोन को सूट करता हुआ ही फाउंडेशन लें।

स्किन अंडरटोन को भी जानें

अगर आप फाउंडेशन के सेलेक्शन में किसी तरह की गलती करना नहीं चाहती हैं तो ऐसे में आपको स्किन अंडरटोन की पहचान भी करनी चाहिए। स्किन अंडरटोन आमतौर पर तीन टाइप की होती है- वार्म, न्यूट्रल और कूल। स्किन अंडरटोन की पहचान करने के लिए आप कलाई को देखें, अपनी नसों के रंगों की जांच करें। अगर वे पर्पल, ब्लू कलर की हैं तो इसका मतलब है कि स्किन का अंडरटोन कूल है। वहीं नसों के ग्रीन, ऑलिव कलर का मतलब है कि स्किन टोन वार्म है। वहीं अगर आप अपनी नसों के कलर को तय नहीं कर पा रही हैं तो स्किन टोन न्यूट्रल है। इसके बाद आप फाउंडेशन को सेलेक्ट करें। वही फाउंडेशन लें, जो स्किन की अंडरटोन के लिए भी सूटेबल हो।

इन बातों का रखें ख्याल

- हमेशा चेक करके ही फाउंडेशन खरीदें। फाउंडेशन को चेक करने के लिए उसे अपने माथे या जॉलाइन पर अप्लाई करके देखें। इससे आपको सही फाउंडेशन सेलेक्शन में सुविधा होगी।

- फाउंडेशन शेड को हमेशा नेचुरल लाइट में ही चेक करें।

- कई महिलाएं अपनी स्किन टोन से एक शेड लाइट फाउंडेशन खरीदती हैं। लेकिन आपको ऐसी भूल नहीं करनी चाहिए। हमेशा स्किन टोन से मैचिंग फाउंडेशन को ही चुनना चाहिए।

- फाउंडेशन खरीदते समय अपनी स्किन टाइप को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ऑयली से लेकर ड्राय स्किन के लिए अलग-अलग फाउंडेशन मार्केट में अवेलेबल हैं। इसलिए आपको पहले अपनी स्किन टाइप की पहचान करनी चाहिए और तभी फाउंडेशन चुनना चाहिए।

- अगर आपको सही फाउंडेशन चुनने में समस्या हो रही है तो ऐसे में आप ब्यूटी स्टोर पर मौजूद एक्सपर्ट की इसमें मदद ले सकती हैं।

और पढ़ें
Next Story