Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बॉलीवुड की ये थ्री क्वींस कैसे सेलिब्रेट करती हैं होली, जानिए इन्हीं की जुबानी

परिणीति चोपड़ा तापसी पन्नू रानी मुखर्जी ने बताया कैसे सेलिब्रेट करती हैं होली

बॉलीवुड की ये थ्री क्वींस कैसे सेलिब्रेट करती हैं होली, जानिए इन्हीं की जुबानी

होली आए और हम होली की मस्ती में ना डूबे, यह कैसे हो सकता है। हमारे फिल्म सितारे भी इस पर्व को बड़े उत्साह-उमंग से मनाते हैं। इस दिन वे अपनों के साथ रंग ही नहीं खेलते, अपने रिश्तों के रंग और गहरे करते हैं। इन सितारों के लिए होली क्या मायने रखता है, वे होली कैसे मनाते हैं, बता रहे हैं हरिभूमि को...

परिणीति चोपड़ा

जब से होश संभाला है, मैं फुलऑन होली खेलती हूं। बचपन से लेकर आज तक मैंने होली को खूब एंज्वॉय किया है। मुझे याद है कि जब टीनएजर थी, तो आस-पास के लड़के होली पर रंग लगाने की बहुत कोशिश करते थे, लेकिन कामयाब नहीं हो पाते थे।

दरअसल, मेरे पापा बहुत सख्त थे, उनसे लड़के बहुत डरते थे। एक बार मेरी खास फ्रेंड के घर पर होली पार्टी थी, वहां पहली बार मैंने लड़कों के साथ होली खेली थी। कुछ से अच्छी फ्रेंडशिप भी हो गई थी।

इसी पार्टी में मैंने थोड़ी-सी भांग भी चखी थी, इसका असर यह हुआ कि मैं बस हंसती ही रही। होली सच में जिंदगी को हंसी, खुशी के रंग से भर देता है। मैं सभी फैंस को सेफ होली खेलने की सलाह जरूर दूंगी। आखिर में मेरी तरफ से सबको हैप्पी होली।

इसे भी पढ़ें: SrideviDeath: श्रीदेवी-मिथुन के अफेयर्स के बीच इस एक शर्त से अलग हो गए थे ये दो स्टार

तापसी पन्नू

होली खेलने का असली मजा दिल्ली में आता है, फैमिली मेंबर्स, फ्रेंड्स के साथ। यही वजह है कि हर बार मेरी कोशिश रहती है कि होली पर दिल्ली पहुंच जाऊं। इस दिन वहां अलग ही रंग-ढंग नजर आता है। दो-बार मैंने होली पर भांग भी पी थी, लेकिन इसका नशा आसानी से उतरता नहीं है, इसलिए भांग से तौबा कर ली।

जहां तक यादगार होली की बात है, तो सिर्फ अबीर-गुलाल से जिस साल होली खेली थी, वह सबसे यादगार थी। इस साल भी त्योहार पर खूब धमाल करने की प्लानिंग है। फैंस को भी मेरी तरफ से होली की ढेर सारी शुभकामनाएं। जमकर होली खेलिए, अपने और अपनों की जिंदगी में खुशी-हंसी के रंग भर दीजिए।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार का होली पर बड़ा तोहफा, सस्ता हुआ LPG सिलेंडर- जानिए नई कीमतें

रानी मुखर्जी

मार्च का महीना मेरे लिए सेलिब्रेशन मंथ होता है। एक तरफ होली का त्योहार आता है, तो इस महीने 21 तारीख को मेरा बर्थ-डे भी आता है। मेरी सबसे यादगार होली बचपन के समय की हैं। उस दौरान अपने भाई राजा के साथ मिलकर खूब होली खेलती थी। जब हम होली खेलकर घर आते थे, तो मम्मी हमें पहचान ही नहीं पाती थीं। उसके बाद मां के हाथ की बनीं जलेबी, बिरयानी खाते थे, आज भी वो स्वाद याद है।

जहां तक इस बार की होली का सवाल है, तो मेरा मन पापा को बार-बार याद करेगा, क्योंकि वह अब इस दुनिया में नहीं रहे। लेकिन मेरी बेटी आदिरा की यह पहली होली है, इसलिए उसकी होली की तैयारियां कर रखी हैं। गुलाल और नेचुरल कलर्स लेकर आई हूं। अपने घर पर आदिरा के हमउम्र बच्चों को बुलाऊंगी।

उनके पसंद की चीजें खाने में बनवाऊंगी। मैं चाहती हूं कि आदिरा अपनी पहली होली को खूब एंज्वॉय करे। मेरे हसबैंड आदित्य को होली खेलना पसंद नहीं है, वह सिर्फ गुलाल का टीका लगा लेते हैं। मैं भी अब होली नहीं खेलती हूं। हां, इस बार होली के दिन घर पर जलेबी जरूर बनाऊंगी।

Next Story
Top