Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

#MeToo: क्रिकेट तक पहुंची इसकी आग, सेक्‍स संबंध बनाने को लेकर खिलाड़ि‍यों के लिए जारी हुई गाइडलाइन

दुनिया भर में चल रहे #MeToo (मीटू) कैपेंन अब क्रिकेट जगत तक पहुंच गया है। दरअसल न्यूलीलैंड क्रिकेट प्‍लेयर्स एसोसिएशन (NZCPA) ने अलग तरह की पहल करते हुए खिलाड़ि‍यों के लिए सेक्‍स संबंधों में सहमति के मुद्दे पर हैंडबुक जारी किया है।

#MeToo: क्रिकेट तक पहुंची इसकी आग, सेक्‍स संबंध बनाने को लेकर खिलाड़ि‍यों के लिए जारी हुई गाइडलाइन

दुनिया भर में चल रहे #MeToo (मीटू) कैपेंन अब क्रिकेट जगत तक पहुंच गया है। दरअसल न्यूलीलैंड क्रिकेट प्‍लेयर्स एसोसिएशन (NZCPA) ने अलग तरह की पहल करते हुए खिलाड़ि‍यों के लिए सेक्‍स संबंधों में सहमति के मुद्दे पर हैंडबुक जारी किया है।

इस हैंडबुक में खिलाड़ियों के लिए कुछ गाइडलाइंस जारी किए गए हैं। ESPNcricinfo.com के अनुसार कार्यस्‍थल पर महिलाओं के साथ सेक्‍स प्रताड़ना के बढ़ते मामलों को ध्‍यान में रखते हुए यह कदम उठाया गया है।

इसे भी पढ़ें: क्रिकेट ही नहीं इश्क-मोहब्बत में भी विराट से दो कदम आगे रहे हैं एबी डिविलियर्स, ताजमहल से है खास कनेक्शन

गाइडलाइंस के अनुसार- जीवन में हर समय सही निर्णय लेना महत्‍वपूर्ण है। जब बात सेक्‍स संबंधों और इसको लेकर सहमति की हो तो यह और भी महत्‍वपूर्ण हो जाता है। कैसी भी स्थिति हो, सेक्‍स सहमति लेना बेहद महत्‍वपूर्ण है।

गाइडलाइंस में यह भी कहा गया है कि यह ध्‍यान रखा जाना चाहिए कि सही सहमति एक तरह से सही तरीके से संवाद से भी जुड़ी है। यदि आप किसी के साथ रिलेशनशिप चाहते हैं तो हर बार आपको उसकी सहमति हासिल करने की जरूरत है।

बता दें कि #Me Too कैंपेन इस समय दुनियाभर में सुर्खियों में बना हुआ है, इसमें महिलाएं अपने ऊपर हुए यौन शोषण या इस तरह की कोशिश के बारे में खुलकर बता रही हैं। हाल ही में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने भी अतीत में ‘मानसिक प्रताड़ना’ और चयन में भेदभाव की शिकायत का मुद्दा उठाया है।

Share it
Top