Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दिनेश चंडीमल और श्रीलंका के कोच ने बॉल टेम्परिंग के आरोप को स्वीकार किया, जानें पूरा मामला

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में मैदान पर बॉल बदलने के फैसले की वजह से श्रीलंकाई टीम ने खेलने से इंकार कर दिया था जो कि खेल की भावना के खिलाफ है। इसके बाद मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ ने कप्तान दिनेश चंडीमल को एक टेस्ट मैच के लिए प्रतिबंधित किया था।

दिनेश चंडीमल और श्रीलंका के कोच ने बॉल टेम्परिंग के आरोप को स्वीकार किया, जानें पूरा मामला

कप्तान दिनेश चंडीमल समेत श्रीलंकाई टीम प्रबंधन ने बॉल टेम्परिंग मामले में आईसीसी द्वारा गेंद से छेड़छाड़ के आरोप को स्वीकार कर लिया है। दरअसल वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में मैदान पर बॉल बदलने के फैसले की वजह से श्रीलंकाई टीम ने खेलने से इंकार कर दिया था जो कि खेल की भावना के खिलाफ है।

आईसीसी ने एक बयान में कहा कि चंडीमल, कोच चंडीका हाथुरुषे और मैनेजर असंका गुरुसिंहा ने सेंट लुसिया में दूसरे टेस्ट के दौरान मैदान पर बॉल बदलने से खेलने को लेकर इनकार करने मामले में अपनी भूमिका को स्वीकार किया है।

इस मामले के बाद आईसीसी ने आईसीसी कोड आचरण के अनुसार इस मामले की सुनवाई के लिए न्यायिक आयुक्त के रूप में माइकल बेलॉफ क्यूसी को नियुक्त किया था। उन्होंने बताया यह अनुच्छेद 2.3.1, लेबल 3 अपराध का उल्लंघन करता है, जो खेल की भावना के विपरीत है।

शनिवार को खेल की शुरुआत में इस घटना में शामिल होने के लिए मंगलवार को आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने आरोप लगाया था, जिसके कारण खेल की शुरुआत में दो घंटे की देरी हुई थी।

वीडियो साक्ष्य मिलने के बाद गेंद की स्थिति बदलने के प्रयास में चंडीमल को आईसीसी ने दोषी पाया था और उन्हें गेंद गेंद से छेड़छाड़ पाया गया था। हालांकि श्रीलंका के कप्तान ने मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ के एक टेस्ट मैच के लिए उन्हें प्रतिबंधित करने के फैसले के खिलाफ अपील भी की है।

Share it
Top