Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ind vs SL: राहुल द्रविड़ का बयान, कहा- आपको टीम में प्रतिभा के दम पर चुना जाता है ना की घूमने के लिए

राहुल द्रविड़ ने कहा कि मेरा पूरा विश्वास है कि अगर आपको देश के लिए खेलने के लिए चुना गया है तो फिर चाहे वे 15 खिलाड़ी हों या 20 आप प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के योग्य हैं। सेलेक्ट आपको 15 में सिर्फ इसलिए चुनते हैं कि आप बैंच पर बैठ सकें या छुट्टियां मना सकें।

Ind vs SL: राहुल द्रविड़ का बयान, कहा- आपको टीम में प्रतिभा के दम पर चुना जाता है ना की घूमने के लिए
X

राहुल द्रविड़ (twitter)

खेल। भारतीय क्रिकेटर क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) के कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) होने के बाद से ही वह और उनके साथ अन्य 8 खिलाड़ी भी आइसोलेशन (Isolation) में हैं। हालांकि, 8 अन्य खिलाड़ियों की रिपोर्ट निगेटिव आई है लेकिन सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत उन्हें आइसोलेशन में भेजा गया है। इस कारण भारत को दूसरे मुकाबले में बचे हुए 11 खिलाड़ियों के साथ ही मैदान में उतरना पड़ा। क्योंकि भारतीय टीम प्रबंधन (Indian Team Selector) के पास कोई और विकल्प नहीं बचा था।

वहीं बुधवार को भारत की ओर से देवदत्त पडिकक्ल, ऋतुराज गायकवाड़, नीतीश राणा और चेतन सकारिया को टी-20 इंटरनैशनल डेब्यू का मौका मिला। इसके बाद कोच राहुल द्रविड़ ने इन खिलाड़ियों के चुने जाने को लेकर हो रही प्रतिक्रियाओं पर अपनी राय रखी है। उनका कहना है कि जिस भी खिलाड़ी को इस दौरे पर चुना गया है वह भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

दरअसल इस दौरान द्रविड़ ने कहा, " जब हमने वनडे सीरीज जीती तो आखिरी मैच में हमने कुछ युवा खिलाड़ियों को मौका देने की सोची। हां, यहां परिस्थितियों ने हमें सीरीज जीतने से पहले ही ऐसा करने पर मजबूर कर दिया। लेकिन मेरा पूरा विश्वास है कि अगर आपको देश के लिए खेलने के लिए चुना गया है तो फिर चाहे वे 15 खिलाड़ी हों या 20 आप प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के योग्य हैं। मुझे नहीं लगता कि सेलेक्ट आपको 15 में सिर्फ इसलिए चुनते हैं कि आप बैंच पर बैठ सकें या छुट्टियां मना सकें।" हालांकि, डेब्यू का मौका मिलने के बाद खिलाड़ी इस सुनहरे मौके को पूरी तरह से भुना नहीं पाए और वह 4 विकेट से श्रीलंका से हार गए।

वहीं द्रविड़ ने कहा कि बेशक, मैं इन सब बातों से इत्तेफाक नहीं रखता, मैं टीम को देखता हूं। 20 खिलाड़ी टीम में चुने गए जो यहां खेल रहे हैं वे अच्छा प्रदर्शन करके आए हैं, यह भारत में आसान नहीं है। जो खिलाड़ी यहां तक पहुंचे हैं वे डिसर्व करते हैं। इस बार ऐसा नहीं होता कि आप हर बार सबको टीम में सभी खिलाड़ों को खिला पाएं। यह अच्छी बात है कि हम ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ियों को मौका दे पाए हैं।

इसके साथ ही राहुल द्रविड़ को लगता है कि जो खिलाड़ी यहां पहुंचे हैं उन्होंने खुद यह जगह कमाई है। ऐसा हुआ कि सभी पांच खिलाड़ी जिन्होंने मेजबान टीम से पहले कोई मुकाबला नहीं खेला था उन्होंने यहां कम से कम एक मैच जरूर खेल है, साथ ही वह मानते हैं कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

Next Story