Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कंगना रनौत के बयान पर मचा बवाल: पद्म अवॉर्ड वापस लेने की उठी मांग, राजस्थान में 2 FIR हुई दर्ज

राजस्थान की जयपुर कोतवाली और जोधपुर के शास्त्रीनगर थाने में कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

कंगना रनौत के बयान पर मचा बवाल: पद्म अवॉर्ड वापस लेने की उठी मांग, राजस्थान में 2 FIR हुई दर्ज
X

बॉलीवुड फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत (Bollywood film actress Kangana Ranaut) के एक बयान के बाद उनकी काफी आलोचना हो रही हैं। 1947 में भारत की स्वतंत्रता को 'भीख' या भिक्षा कहने वाले बयान को लेकर मोर्चा खोल दिया है। विपक्षी दलों ने कंगना से पद्म श्री अवॉर्ड वापस लेने की मांग की है तो वहीं दूसरी तरफ राजस्थान (Rajasthan) में दो जगहों पर कंगना के खिलाफ मामला दर्ज (FIR) हो गया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान की जयपुर कोतवाली और जोधपुर के शास्त्रीनगर थाने में कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं सुखेर थाना और उदयपुर के चुरू कोतवाली पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। कांग्रेस विधायक मनीषा पवार की तरफ से जोधपुर के शास्त्रीनगर थाने में मामला दर्ज करवाया है।

इस बयान को लेकर राजस्थान महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष रेहना रियाज ने कहा कि इतिहास के अनुसार हजारों लोगों के बलिदान के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ। भारत की आजादी और उसके शहीदों को पूरा देश सम्मान की नजर से देखता है, लेकिन कंगना के इस बयान से स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान हुआ है। इसलिए उनके खिलाफ जयपुर कोतवाली में मामला दर्ज करवाया है।

क्या है कंगना का बयान

जबकि वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कंगना के बयान को चौंकाने वाला और अपमानजनक करार दिया और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से रनौत को दिए गए पद्म पुरस्कार को वापस लेने की अपील की है। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने एक कार्यक्रम में कहा कि 1947 में हमें जो आजादी मिली वो आजादी नहीं बल्कि भीख थी। हमें सच्ची आजादी 2014 में मिली, जब मोदी सरकार सत्ता में आई।

Next Story