Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Crime: पत्रकार के परिवार पर जानलेवा हमला, परिवार के आठ लोग घायल, डीसीपी ने कहा- मामले में हो रही उचित कार्रवाई

अंबेडकर नगर के दक्षिणपुरी इलाके में करीब दर्जनभर लोगों ने हरिभूमि मीडिया संस्थान के पत्रकार और उसके परिवार पर ईंट व पत्थरों से जानलेवा हमला कर दिया।

Delhi Crime: पत्रकार के परिवार पर जानलेवा हमला, परिवार के आठ लोग घायल, डीसीपी ने कहा- मामले में हो रही उचित कार्रवाई
X

पत्रकार के परिवार पर जानलेवा हमला, परिवार के आठ लोग घायल

निर्देश तोमर/चीफ रिपोर्टर

नई दिल्ली। दक्षिणी जिले के अंबेडकर नगर थाना इलाके के दक्षिणपुरी में शुक्रवार की देर शाम पड़ोसियों के झगड़े ने खूनी रूप ले लिया। करीब दर्जनभर लोगों ने हरिभूमि डॉट कॉम में कार्यरत पत्रकार विजय के परिवार पर ईंट व पत्थरों से जानलेवा हमला कर दिया। परिवार को घर में घुसकर अपनी जान बचानी पड़ी। विजय के अलावा परिवार के आठ लोग घायल हुये हैं। सभी को एम्स में मेडिकल के लिये ले जाया गया था। जहां उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। झगड़े की वजह पुरानी रंजिश बताई जा रही है। इस मामले की जानकारी देते हुये दक्षिणी जिले के डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि दूसरे पक्ष के भी तीन लोगों की एमएलसी हुई है। मामले में उचित कार्रवाई की जा रही है।

डीसीपी के अनुसार, शुक्रवार रात करीब पौने 11 बजे पीसीआर को कई कॉल प्राप्त हुई। पुलिस तुरंत एल ब्लॉक दक्षिणपुरी पहुंची। मकान नंबर एल-71/72 और एल-73/74 में रहने वाले परिवारों के बीच झगड़ा हुआ था। सभी घायलों को एम्स में ले जाया गया। पत्रकार विजय के घर पर हुये पथराव व मारपीट में उसके परिवार के आठ लोगों की एमएलसी हुई है। बाद में दूसरे पक्ष के भी तीन लोगों की एमएलसी हुई।

विजय के पिता नारायण सिंह व परिजनों के बयान दर्ज कर लिये गये हैं। पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है। वहीं विजय का कहना है कि पड़ोसी परिवार से उनकी पुरानी अनबन है। पहले भी उनके बीच कहासुनी हो चुकी है। शुक्रवार शाम पहले से घात गलाकर बैठे पड़ोसी परिवार के लोगों ने पहले विजय के बड़े भाई को पीटना शुरू किया था। बचाने गए विजय और परिवार के अन्य लोगों पर भी हमला किया गया। जान बचाने के लिए परिवार के लोगों को घर में बंद होकर जान बचानी पड़ी। घर पर जमकर पथराव किया गया। इसके बाद परिवार के सदस्यों ने 100 नंबर पर तीन बार कॉल की। पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक हमलावर फरार हो चुके थे। इस दौरान विजय के कान पर किसी नुकीली चीज से हमला किया गया। वह लहूलुहान हो गया था।

Next Story