Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ये लक्षण बताते हैं आपको है ''दिल की बीमारी''

पैरों में सूजन होना दिल की बीमारी के अहम लक्षण हैं।

ये लक्षण बताते हैं आपको है
नई दिल्ली. कहते हैं अगर दिल धड़के तो आपको कोई याद कर रहा है, लेकिन हर बार कुछ ऐसा हो ये जरूरी तो नहीं हैं। जी हां, अगर आपका दिल तेज धड़के तो ऐसा होना दिल की बीमारियों को भी दर्शाता है, जिसे नजरअंदाज करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। उम्र कोई भी हो आपको इस तरह की बीमारियों का पता तब चलता है जब आपके लिए यह गंभीर बन जाती है। लेकिन कोई भी बीमारी हो उसके कुछ लक्षण भी होते हैं। हालांकि कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अजित मेनन ने कुछ महत्वपूर्ण लक्षण बताया है जिससे आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको दिल की बीमारी है।
1. दिल की धड़कन का सुनाई देना
कई बार डर की वजह से आपका दिल तेज धड़कने लगता है लेकिन हर बार ऐसा नहीं होता है। लेकिन अगर आप किसी शांत जगह पर मौजूद हैं और आपको आपकी धड़कनों की गूंज सुनाई दे रही है तो इसे आप नजरअंदाज ना करें बल्कि डॉक्टर से कंसल्ट करें। इन लक्षणों से आप किसी खतरनाक बीमारी से खुद को बचा सकते हैं।
2. अधिक थकान होना या सांस फूलना
दिल की बीमारी का ये बहुत ही अहम लक्षण होता है। काम का प्रेशर हर किसी को होता है जिससे आपको थकान भी महसूस होती है इसलिए आप इन बातों पर कुछ खास गौर नहीं करते हैं और धीरे-धीरे ये बीमारी आगे बढ़ते जाती है। लेकिन आपको यह बात जान लेना चाहिए कि काम की थकान और दिल के बीमार होने वाली थकान दोनों में बहुत अंतर होता है। दिल के बीमार होने पर होने वाली थकान बहुत अलग होती है। सीधे शब्दों में कहे तो अगर आप दोपहर तक एक दम परफेक्ट हैं लेकिन अगर थोड़ी देर बाद ही आपको किसी काम में मन न लगे या हर छोटे-छोटे काम भी आपको बोछिल लगने लगे तो इन लक्षणों से समझिए कि आपका दिल खतरे में है। इतना ही नहीं थकान के साथ अगर आपका सांस फूलने लगे तो ये भी दिल की बीमारी के लक्षण हैं इसलिए इसे नजरअंदाज न करें बल्कि बीच-बीच में डॉक्टरों की सलाह लीजिए। ऐसा इसलिए होता है क्योकि जब आपका दिल सही तरीके से धड़क नहीं पाता है तो धीरे-धीरे खून नसों में इकट्ठा होने लगता है इसके बाद यह फेफड़ों तक पहुंचने लगता है।
3. अपच
अहच होना तो बेहद ही आम बात है लेकिन अक्सर अपच की परेशानी होने से आप समझ सकते हैं कि आपके दिल, दिल की बीमारी से जूझने वाला है। आपको बता दें कि एसिडिटी और गैस्ट्रोसोफजियल रिफ्लक्स डिजिसेस हमेशा पेट में दर्द से नहीं होता है। अगर दिल सही तरीके से न धड़के तो भी इस तरह की बीमारी के लक्षण होते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योकि आपकी आंतों तक खून सही तरीके से नहीं पहुंच पाता है और आपको अपच और एसिडिटी की समस्या सताने लगती है। कार्डियोलॉजिस्ट का कहना है कि अगर आपको ये लक्षण दिखाई दें तो आपको अपने दिल के इलाज करवाने की जरूरत है।
साभार- thehealthsite
आगे की स्लाइड में पढ़िए, हार्ट अटैक के अन्य लक्षण-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top