Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बारिश के मौसम में कैसे बचे बीमारियों से, जानिए घरेलू उपाय

परजीवियों से शरीर में कुपोषण और कई अन्य समस्याएं हो जाती हैं ।

बारिश के मौसम में कैसे बचे बीमारियों से, जानिए घरेलू उपाय
नई दिल्ली. बारिश के मौसम में भीगना किसे पसंद नहीं होता लेकिन क्या आप जानते है कि सबसे ज्यादा बीमारियों का खतरा इसी मौसम में बढ़ जाता हैं। एक रिसर्च के अनुसार बारिश के मौसम में शरीर में संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा होता है। अगर पेट में किसी प्रकार का परजीवी संक्रमण पनप जाए तो इससे घातक बीमारियां भी हो सकती हैं।

ये भी पढ़े. करें नियमित योगासन, पाएं स्वस्थ-निरोग जीवन

परजीवियों से शरीर में कुपोषण और कई अन्य समस्याएं हो जाती हैं इसलिये स्वस्थ रहने के लिये इन्हें शरीर से निकालना आवश्यक होता है। हम आपको बता रहे हैं कुछ अनोखी और खास चीजें जिनकी मदद से आप इस संक्रमण से बच सकते हैं।

- नींबू के बीज

नींबू के बीज को चबा-चबा कर पानी के साथ निगल लें। इससे पेट में किसी भी तरह का संक्रमण नही होगा और किसी तरह का परजीवी पेट में है तो वो नष्ट हो जाएगा। अगर आप इन बीजों को चबा न सके तो आप नींबू के बीज लेकर उन्हे पीस कर लेप बना ले। एक गिलास पानी में इसे डालकर पी लें।

ये भी पढ़े. पुरूष पसंद करते हैं अक्लमंद महिलाएं, नहीं करते शारीरिक सुंदरता की अपेक्षाः रिपोर्ट

- अरण्डी का तेल

एक गिलास गुनगुना दूध लेकर उसमें दो चम्मच अरण्डी का तेल मिलायें। इस दूध को पीने से पेट में पनपे परजीवी मल के साथ बाहर आ जायेंगे। इसे एक सप्ताह तक निरन्तर लेने पर आंत के परजीवियों से राहत मिलती है। शामिल करें जिसका परजीवियों पर तेज और ज्यादा प्रभावशाली असर होगा। अगर आपको हल्दी का स्वाद पसंद है तो सीधे पानी के साथ लें ये ज्यादा फायदा करेगा।

ये भी पढ़े. जानिए अकेलेपन से होने वाली मुख्य छह समस्याओं के बारे में, यह प्रभावित कर सकता है आपके स्वास्थ्य को

- लहसुन

लहसुन की खुशबू बहुत ही खराब होती है जिसके कारण परजीवी शरीर से बाह निकाले जा सकते हैं। ये प्रतिजैविक होने के साथ-साथ प्रतिकवक भी होते हैं इसलिये शरीर में सूक्ष्मजीवों को खत्म करने में सहायक होते हैं। परजीवियों को हटाने और उनसे बचने के लिये लहसुन की कुछ कलियां रोजाना चबायें।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर -
बरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top