Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अगर ऑफिस में पानी है प्रमोशन, तो जरूर करें ये तीन काम

अकसर ऐसा होता है कि अपने वर्क सेक्टर में प्रमोशन न मिलने की वजह से हम परेशान हो जाते हैं। कई बार इस वजह से ऑफिस में ओवर रिएक्ट भी करते हैं। जबकि हमें प्रमोशन न मिलने की वजह पर गौर करना चाहिए और खुद में सुधार लाने की कोशिश करनी चाहिए।

अगर ऑफिस में पानी है प्रमोशन, तो जरूर करें ये तीन काम
X

Office Behaviour Tips for Promotion : आपके सहकर्मी को प्रमोशन मिले और आपको न मिले तो बुरा लगता है। मन में कई तरह के सवाल पैदा होते हैं, सहकर्मी से ईर्ष्या भी होती है, गुस्सा आता है और लगता है कि आपकी योग्यता की अनदेखी की गई है। लेकिन गुस्सा करने से बेहतर है कि उस समय खुद का आकलन किया जाए, खुद को बेहतर बनाने की तरफ कदम बढ़ाया जाए, अपने स्किल्स को बढ़ाया जाए।

शिकायत न करें

आपके बॉस को यह पता है कि आपका प्रमोशन होना चाहिए। हो सकता है इस बात पर आपके बॉस आपके रिएक्शन का इंतजार कर रहे हों। कहने का
मतलब है कि प्रमोशन ना मिलने पर आप कैसे रिएक्ट करती हैं, इस बात को बॉस जानना चाह रहे हों। लेकिन रिएक्शन देने की गलती ना करें ना ही
अपने को-वर्कर्स के साथ गुस्से में कुछ बोलें। आपके बोले हुए शब्द बॉस तक पहुंच सकते हैं। इसके बजाय अपने वर्क पर फोकस करें, अपनी स्किल में
सुधार करने की कोशिश करें।

खुद को अहम साबित करें

आपके बॉस ने आपकी सहकर्मी को कुछ सोचकर ही तो प्रमोशन दिया होगा। हो सकता है आपकी सहकर्मी आपसे ज्यादा योग्य हो। कहने का मतलब यह है कि सचमुच, आपकी सहकर्मी प्रमोशन की पात्र हो। आपको भी अगर प्रमोशन का हकदार बनना है तो अपने बॉस की आलोचना करने की बजाय उन्हें अहसास कराएं कि आपके लिए कंपनी अहम है और आप अपने निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के लिए कोशिश कर रही हैं। उन्हें विश्वास दिलाएं कि आप कंपनी के लिए समर्पित हैं और अपने स्किल में सुधार करेंगी। आपकी यह खुली और बेबाक प्रतिक्रिया आपके बॉस को आपके लिए ज्यादा पॉजिटिव बनाएगी।

तब बदल दें नौकरी

अगर आप मेहनत, लगन और ईमानदारी से काम करती हैं, इसके बावजूद आपके बॉस आपकी मेरिट को पहचान नहीं पाते और आपको प्रमोट ना करें तो बेहतर है, दूसरी जगह नौकरी तलाशें। स्टेनफॉर्ड यूनिविर्सिटी स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रोफेसर जैफरी पेफर अपनी पुस्तक ‘पावर वाय सम पिपुल हैव इट एंड अदर्स डोंट’ के लेखक कहते हैं, ‘आप और आपके काम के लिए लोगों की धारणा को बदलना काफी मुश्किल है। मेहनत और समर्पण एक निश्चित बिंदु तक ही काम करते हैं। कुछ लोगों को आपकी बदली हुई भूमिका पसंद नहीं होती और वे इसे स्वीकार नहीं करते।’ कहने का मतलब है कि अगर आपको अपनी संस्था में महत्वहीन समझा जाता है तो बेहतर है आप नौकरी छोड़ दें क्योंकि नई जगह पर आपको नई महत्वपूर्ण भूमिका में स्वीकार किया जा सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story