Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Veer Rajwant Singh Interview : वीर राजवंत सिंह करना चाहते हैं इस तरह की फिल्में

छोटी उम्र से ही वीर राजवंत सिंह थिएटर प्लेज करने लगे थे। एक्टिंग से यही लगाव उन्हें मुंबई ले आया। शुरुआती स्ट्रगल के बाद वीर को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर अपना टैलेंट दिखाने का मौका मिला। इन दिनों भी वह एक वेब सीरीज ‘द हॉली-डे’ को लेकर चर्चा में हैं। अब तक की एक्टिंग जर्नी से जुड़ी बातचीत वीर राजवंत सिंह से।

Veer Rajwant Singh Interview : वीर राजवंत सिंह करना चाहते हैं इस तरह की फिल्में

पहले एक्टर्स के पास अपना एक्टिंग टैलेंट दिखाने के लिए थिएटर, टीवी, फिल्म जैसे मीडियम ही थे। लेकिन अब शॉर्ट फिल्में, वेब सीरीज भी ऑप्शन के तौर पर उभरे हैं। कई एक्टर तो ऐसे हैं, जो डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए ही पहले पॉपुलर हुए और अब वेब सीरीज से लेकर फिल्में तक कर रहे हैं। इस लिस्ट में वीर राजवंत सिंह भी शामिल हैं। चंडीगढ़ में पले-बढ़े वीर राजवंत सिंह बचपन से ही फिल्म एक्टर बनने का सपना देख रहे थे।

उनकी तमन्ना इंटर तक की पढ़ाई करने के बाद फिल्ममेकिंग सीखने की थी। लेकिन तकदीर ने ऐसा खेल खेला कि पिता के असामयिक देहांत के चलते उन्हें पिता की ही जगह पर सरकारी नौकरी करनी पड़ी। पूरे नौ साल तक सरकारी नौकरी करने के बाद वह 2015 में मुंबई आ गए। तब से वह एक्टिंग वर्ल्ड में एक्टिव हैं। इन दिनों वेब सीरीज 'द हॉली-डे' को लेकर वह चर्चा में हैं। बातचीत वीर राजवंत सिंह से।

एक्टिंग का इंट्रेस्ट मन में कैसे जगा और फिर मुंबई आने पर एक्टिंग की जर्नी कैसे शुरू हुई?

जब मैं छोटा था, तभी स्टेज पर काम करने लगा था। उसके बाद कुछ वर्कशॉप भी किए पर किसी एक्टिंग स्कूल में नहीं गया। मैंने जसपाल भट्टी जी के साथ सात-आठ साल काम किया था। उनके साथ दस-बारह स्ट्रीट प्ले किए। बाद में मैं मुंबई आ गया, यहां तुरंत एक्टिंग में चांस नहीं मिला तो असिस्टेंट के रूप में काम करना शुरू किया। मैंने दो साल तक बतौर असिस्टेंट कास्टिंग डायरेक्टर काम किया। फिर एक दोस्त ने सलाह दी, मैं डिजिटल मीडियम में ट्राई करूं।

2017 में मुझे पहला डिजिटल शो मिला और तब से लगातार काम कर रहा हूं। मैंने एक शॉर्ट फिल्म 'घुसपैठिया' की। धीरे-धीरे मैंने दस-बारह शॉर्ट फिल्में कर लीं। मैंने बीइंग इंडिया, मेन्स एक्सपी, फिल्टर कॉपी मीडियम के लिए वीडियो किए। टीवी की मिनी सीरीज 'नेता सबकी लेता' की। 'लव ऑन द रॉक्स' और 'व्हाट द फ्लॉक्स' वेब सीरीज भी की। मैं अपने हर काम की रिव्यू पढ़ता हूं, जो कमियां बताई जातीं, उन्हें सुधारता भी रहता हूं।

वेब सीरीज 'द हॉलीडे' को लेकर क्या कहेंगे और इसमें आपका रोल किस तरह का है?

दस एपिसोड की इस वेब सीरीज में चार दोस्तों की कहानी है, जिसमें तीन लड़के, एक लड़की है। इस लड़की की लड़कियों से दोस्ती ही नहीं है। फिर उसकी शादी तय हो जाती है, उसका पति बैचलर पार्टी पर जाता है, लेकिन वह नहीं जा पाती। तब कबीर (मेरा किरदार) उससे कहता है कि तू बैचलर पार्टी में क्यों नहीं जा रही? तो वह कहती है कि उसकी कोई सहेली नहीं। तब कबीर कहता है कि मैं तुझे बैचलर पार्टी पर ले जाऊंगा। फिर वे बाकी दोनों दोस्तों से बात करके बैचलर पार्टी के लिए जाते हैं।

कबीर कहता है कि तेरी शादी से पहले हम तुझे घुमाकर लाएंगे। फिर हम सभी मॉरिशस घूमने जाते हैं। तीनों लड़के अलग-अलग दिन अपनी सोच के मुताबिक इस लड़की को घुमाने ले जाते हैं। इसमें मेरा कबीर चौधरी का कैरेक्टर कॉर्पोरेट वर्ल्ड में जॉब करता है लेकिन वह अपनी जॉब को लेकर कंफ्यूज्ड है। वह बहुत ज्यादा कैलकुलेटिब और इंट्रोवर्ट है। जब वे चारों मॉरिशस घूमने जाते हैं तो कैसे कबीर की पर्सनालिटी ओपेन होती है, यह देखना दिलचस्प होगा।

क्या आपकी फिल्मों में भी जाने की इच्छा है?

मुझे अभी तक एक भी फिल्म करने का मौका नहीं मिला, इसकी एक वजह यही है कि अब तक मैं किसी फिल्म का ऑडिशन पास नहीं कर पाया। दूसरी बात डिजिटल में वीर राजवंत की कुछ अहमियत है, लेकिन फिल्मों में नहीं। जब मेरी अच्छी पहचान बन जाएगी, तब मैं फिल्म डायरेक्टर्स से कहूंगा कि क्या वे अपनी फिल्म में काम देकर मुझे अपना टैलेंट दिखाने का चांस दे सकते हैं?

आपके अपकमिंग प्रोजेक्ट्स कौन से हैं?

मैंने 2017 में 'व्हाट द फ्लॉक्स' का पहला सीजन किया था। अब इसका तीसरा सीजन कर रहा हूं। यह फन वेब सीरीज है। फिलहाल शूटिंग चल रही है। इसके अलावा लव रंजन की फिल्म 'जय मम्मी दी' की है, जो सितंबर में आएगी। यह एक कॉमेडी फिल्म है।

आप किस तरह के किरदार निभाना चाहते हैं?

मैं खुद को सीमाओं में नहीं बांधना चाहता और न ही खुद को दोहराना चाहता हूं। मुझे टीवी, वेब सीरीज, फिल्म हर मीडियम में अलग-अलग तरह का काम करना है। हर तरह के किरदार निभाने हैं। ऐसे किरदार करने हैं, जो मेरे अंदर के एक्टर को इंप्रूव करने में मदद करें।

सुषमा

Next Story
Top