Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रियंका-दीपिका के बाद राधिका आप्टे ने भी हॉलीवुड की ओर किया रूख, साइन की ये दो फिल्में

राधिका आप्टे ने हिंदी, बांग्ला, तमिल, तेलुगू और मराठी फिल्मों में काम किया है। अब राधिका आप्टे ने हॉलीवुड सिनेमा जगत की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं। इसी क्रम में उन्होंने दो हॉलीवुड फिल्में साइन की हैं।

प्रियंका-दीपिका के बाद राधिका आप्टे ने भी हॉलीवुड की ओर किया रूख, साइन की ये दो फिल्में
X

राधिका आप्टे ने हिंदी, बांग्ला, तमिल, तेलुगू और मराठी फिल्मों में काम किया है। साथ ही कई उम्दा शॉर्ट फिल्में भी की हैं। इस साल के शुरुआत में वह फिल्म ‘पैडमैन’ में अक्षय कुमार के अपोजिट नजर आई थीं।

यही नहीं बॉलीवुड, रीजनल फिल्मों में अच्छा-खासा काम करने के बाद अब राधिका ने इंग्लिश फिल्मों की ओर रुख किया है। इन दिनों वह डायरेक्टर मिचेल विंटरबॉटम की फिल्म ‘वेडिंग गेस्ट’ में देव पटेल के साथ काम कर रही हैं।

इसके अलावा निर्माता से निर्देशक बनीं लायडिया डीन की अनाम फिल्म में स्तना काटिक और सराह मैगन थॉमस जैसे बेहतरीन एक्टर्स के साथ भी राधिका काम कर रही हैं। यह द्वितीय विश्व युद्ध के बैकग्राउंड पर बनी जासूसी फिल्म है। इन फिल्मों के अलावा वह वेब सीरीज ‘सेक्रेड गेम्स’ को लेकर भी चर्चा में हैं, जो जुलाई से नेटफ्लिक्स पर आएगी।

आपने अब इंटरनेशनल सिनेमा की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं, ऐसा अचानक हुआ या प्लानिंग के साथ आगे बढ़ रही हैं?

इंटरनेशनल सिनेमा से जुड़ने की मेरी ख्वाहिश हमेशा से रही है। यही वजह है कि मैं इंग्लिश लैंग्वेज की फिल्में कर रही हूं। इसके लिए मैंने अमेरिका में यूनाइटेड टैलेंट एजेंसी को अपना एजेंट रखा है। मैं हर लैंग्वेज का सिनेमा करना चाहती हूं।

मैं अपने आपको एक खास तरह के सिनेमा तक ही सीमित नहीं रखना चाहती हूं। मैं विश्वयुद्ध के बैकग्राउंड पर बन रही एक इंग्लिश फिल्म में नूर इनायत खान नाम की जासूस का किरदार निभा रही हूं। मैंने इस फिल्म की कुछ दिन की शूटिंग भी कर ली है।

मैंने इंग्लिश लैंग्वेज की इंटरनेशनल फिल्म ‘बॉम्बेरिया’ के अलावा हॉलीवुड निर्देशक कल पेन की फिल्म ‘आश्रम’ की है। फिल्म ‘आश्रम’ में मेरे अलावा सभी अमेरिकन एक्टर हैं, इसे भारत में मनाली में फिल्माया गया है।

आप इंटरनेशनल फिल्मों में काम कर रही हैं। बॉलीवुड और वहां के वर्किंग स्टाइल में क्या फर्क पाती हैं?

मैंने सबसे बड़ा फर्क यह पाया कि विदेशों में अगर फिल्म की शूटिंग पंद्रह दिन होनी है, तो आपका सीन हो या न हो, आपको सेट पर रहना पड़ता है। मुंबई में अगर हमारे सींस नहीं हैं, तो हम कहीं भी आ-जा सकते हैं। वहां काम करने का कल्चर ही अलग है। दूसरा फर्क यह है कि फिल्म मेकिंग से जुड़े हर डिपार्टमेंट को फिल्म की पूरी कहानी की जानकारी होती है। वहां बारह घंटे की शिफ्ट होती है।

क्या आप भारतीय दर्शकों को ध्यान में रखते हुए इंटरनेशनल फिल्में चुन रही हैं?

फिल्में देखने और न देखने का डिसीजन दर्शकों का अपना होता है। मैं बस अच्छी फिल्मों में एक्टिंग करती हूं, क्योंकि मुझे पता है कि दर्शक बेहतरीन कहानी वाली फिल्में देखना चाहते हैं। अब वह दर्शक भारतीय है या अमेरिकन या एशियन या यूरोपियन है, इस तरह मैं नहीं सोचती।

अब इंग्लिश फिल्मों में बिजी हैं तो क्या बॉलीवुड से दूरी बना लेंगी?

किसने कहा? मैं हिंदी सिनेमा से भी जुड़ी हूं। श्रीराम राघवन की फिल्म ‘शूट द पियानो प्लेयर’ आयुष्मान खुराना के साथ कर रही हूं। गौरव चावला की फिल्म ‘बाजार’ भी कर रही हूं। साथ ही वेब सीरीज भी कर रही हूं। नेटफ्लिक्स के लिए विक्रम चंद्रा के उपन्यास पर बेस्ड एक वेब सीरीज ‘सेक्रेड गेम्स’ कर रही हूं। जिसमें मेरे साथ सैफ अली खान और नवाजुद्दीन सिद्दिकी भी हैं।

‘सेक्रेड गेम्स’ किस तरह की वेब सीरीज है?

यह छह जुलाई से नेटफ्लिक्स पर टेलीकास्ट होगी। यह वेब सीरीज गैंगस्टर गणेश गायतोंडे की रहस्यमय मौत के इर्द-गिर्द घूमती है। इसमें गणेश गायतोंडे की हत्या की जांच करने वाले मुंबई पुलिस के अफसर सरताज सिंह का किरदार, सैफ निभा रहे हैं।

हमने इसकी शूटिंग फिल्म की ही तरह की है। इसके निर्माता अनुराग कश्यप और निर्देशक विक्रमादित्य मोटावाने हैं। मैंने इसमें गणेश गायतोंडे की हत्या की जांच से जुड़ी रिसर्च एनालाइजिंग एजेंट अंजली राठौड़ का किरदार निभाया है। इसके लिए विक्रमादित्य के साथ ही मैंने भी काफी रिसर्च किया कि वह किस तरह से चलेगी, उसका उठना, बैठना और बात करने का लहजा क्या होगा? हमने एक रॉ एजेंट से मुलाकात भी की।

आप जब फिल्मों का सेलेक्शन करती हैं तो किन बातों का ध्यान रखती हैं?

मैं वह काम नहीं कर सकती, जो मुझे ऊबा दे। दूसरी बात अब वह वक्त आ गया है, जब ए ग्रेड एक्टर भी आम मसाला फिल्मों से कुछ अलग सिनेमा करना चाहता है। दर्शक भी अच्छे कंटेंट वाला सिनेमा ही देखना चाहता है। मैं तो अनुराग कश्यप और श्रीराम राघवन की फिल्में बिना कहानी पढ़े भी कर लेती हूं।

आपने डांस की ट्रेनिंग ले रखी है। इसका एक्टिंग में कितना फायदा मिल रहा है?

डांस की ट्रेनिंग से फिल्म में फायदा मिलता है। डांस की ट्रेनिंग से बॉडी के मूवमेंट की ट्रेनिंग होती है, जो एक्टिंग में भी फायदा पहुंचाती है। साथ ही फिट रहने के लिए भी डांस करना हेल्पफुल होता है।

आप मुंबई में रहती हैं और आपके पति लंदन में रहते हैं। आप इस डिस्टेंस मैरिज को कैसे मैनेज करती हैं?

मेरे हसबैंड बेनेडिट कभी मुंबई आकर रहते हैं तो कभी मैं लंदन चली जाती हूं। हम दोनों जगहों पर रहते हैं। हमें अपनी मैरीड लाइफ को सफल बनाने या मजबूती देने के लिए कुछ करने की जरूरत ही नहीं पड़ती है। सच कहूं तो इस तरह से रिश्तों को लेकर मैं कभी कुछ सोचती ही नहीं।

मुझे लगता है कि किसी को भी नहीं सोचना चाहिए। जब दो लोग समझदार हों और अपने रिश्ते को लेकर ईमानदार हों, तो कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ती। हम दोनों बड़ी खुशी-खुशी अपने रिश्ते को निभा रहे हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top