logo
Breaking

एकता कौल मानती हैं सभी को अपने लेवल पर कॉम्प्रोमाइज करना पड़ता है

एकता कौल इन दिनों स्टार प्लस पर टेलीकास्ट हो रहे ईवनिंग शो ‘मेरे अंगने में’ में वह रिया का रोल निभा रही हैं

एकता कौल मानती हैं सभी को अपने लेवल पर कॉम्प्रोमाइज करना पड़ता है
मुंबई. करीब तीन साल पहले एकता कौल, जम्मू से मुंबई आर्इं। महज तीन सालों में ही उन्होंने ‘रब से सोना इश्क’ और ‘एक रिश्ता ऐसा भी’ जैसे सीरियल्स में काम कर टीवी वर्ल्ड में अपनी एक पहचान बनाने में कामयाबी पाई। इसके साथ ही डांस रियालिटी शो ‘झलक दिखला जा सीजन 6’ में उन्होंने अपना डांसिंग टैलेंट भी दिखाया। इन दिनों स्टार प्लस पर टेलीकास्ट हो रहे ईवनिंग शो ‘मेरे अंगने में’ में वह रिया का रोल निभा रही हैं। सीरियल और अपने किरदार से जुड़े कुछ और सवाल एकता कौल से।
रियल लाइफ में आप रिया की सोच को कितना सही मानती हैं? क्या उसे फॉलो भी करती हैं?
रिया एक ब्रॉड माइंडेड लड़की है, जो सभी की आजादी पर यकीन करती है। सभी को अपने ढंग से लाइफ जीने को सही मानती है। लाइफ को लेकर उसकी अप्रोच पूरी तरह प्रैक्टिकल है। इसे पूरी तरह सही मानती हूं और रियल लाइफ में मैं भी ऐसी ही सोच रखती हूं। इसीलिए मैं इस रोल से पूरी तरह खुद को रिलेट कर पा रही हूं।
रिया की सोच है कि अपनी बात कहने और अपनी लाइफ में आगे बढ़ने के लिए फैमिली का विरोध करना भी गलत नहीं होता है। लेकिन ट्रेंडिशनल फैमिलीज में वैल्यूज को ज्यादा महत्व दिया जाता है। इसे आप कैसे जस्टीफाई करेंगी?
ट्रेडिशनल फैमिलीज में सभी मेंबर्स की खुशहाली के लिए सभी को अपने-अपने लेवल पर कॉम्प्रोमाइज करना पड़ता है। अपनी इच्छाओं-सपनों के साथ फैमिली के दूसरे सदस्यों की सोच के बीच बैलेंस बनाना पड़ता है। अगर आपको लगता है कि आप पूरी तरह सही कर रहे हैं तो आगे बढ़ना चाहिए। सबको आप खुश तो नहीं रख सकते लेकिन सभी को समझने का प्रयास जरूर करना चाहिए। जहां तक हो सके सबकी खुशी का ध्यान रखना चाहिए। यानी, लाइफ में पूरी तरह टफ होकर या हमेशा फ्लेग्जिबल बनकर नहीं रहा जा सकता। एक बैलेंस, एडजस्टमेंट सबसे जरूरी चीज है।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरा इंटरव्यू -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top