Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Diwali 2018: कुछ इस तरह बॉलीवुड सेलेब्स मनाएंगे दीवाली, जानिए पूरा प्लान

दिवाली का असली मतलब मुझे उस वक्त पता चला था, जब कई सालों पहले मैं मुंबई में अकेले रह रही थी। उस वक्त ना कोई घर वाला था ना कोई करीबी रिश्तेदार।

मेरे लिए दिवाली का मतलब तन्हा रहना था। मैंने सोचा तो यही था कि दिवाली के मौके पर छोटी-सी पूजा करूंगी और फिर आराम फरमाऊंगी, क्योंकि मेरे पास उस दिन घर वालों को याद करने के अलावा कुछ नहीं था।

मेरा मन उदास था। मैंने दिवाली पूजा शुरू की और जैसे ही पूजा पूरी होने वाली थी कि मेरे घर की डोर बेल बजी। मुझे लगा इस वक्त कौन आ गया। जब मैंने दरवाजा खोला तो सामने मेरे दोस्तों का झुंड था, जो मेरे दिल के बहुत करीब हैं, मेरे खास हैं।

उन सबको साथ में देखकर मैं बहुत खुश हुई। मेरे दोस्तों ने मुझसे कहा कि मैं अच्छा-सा दिवाली ड्रेस पहनूं और तैयार हो जाऊं दिवाली सेलिब्रेशन के लिए।

जब तक मैं अपने रूम में तैयार होने गई, उन लोगों ने पूरे घर को फटाफट सजा दिया। कमरे से निकलने के बाद जब मैंने अपने ही घर की जगमगाहट और सजावट देखी तो मेरा दिल खुशी से बाग-बाग हो गया।

उसके बाद हमने जोर-शोर से दिवाली मनाई। उस दिन मुझे अहसास हुआ कि अगर सच्चे दोस्त आपके पास हों तो आप कभी अकेले नहीं रह सकते।

अभी भी मुझे अपने दोस्तों के साथ मनाई वो यादगार दिवाली याद है। आज मैं अपने पति करण के साथ बहुत खुश हूं।

उनके साथ हर साल दिवाली धूमधाम से मनाती हूं लेकिन फिर भी अपनी वो यादगार दिवाली मैं कभी नहीं भूलूंगी, जिसने मुझे पहली बार अपनेपन का अहसास कराया था।

Next Story