Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Chhapaak Box Office Collection Day 6: अब जाकर पूरी हुईं 'छपाक' की 25 करोड़ की कमाई, छठे दि्न इतने करोड़ का बिजनेस

Chhapaak Box Office Collection Day 6: विवादों के बीच दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' पर्दे पर रिलीज हो चुकी है। फिल्म की कहानी एसिड अटैक सरवाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की है। फिल्म में दिखाए गए किरदारों को देख आपको उनसे प्यार हो जाएगा।

Chhapaak Box Office Collection Day 6: अब जाकर पूरी हुईं

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) की 'छपाक' फिल्म (Chhapaak Release) बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हो चुकी है। बॉक्स ऑफिस पर फिल्म के प्रदर्शन के मुताबिक अनुमान लगाया जा रहा हैं कि फिल्म ने छठे दिन 2.55 करोड़ का कलेक्शन (Chhapaak Box Office Collection) किया होगा।

जिसके चलते अब तक की कमाई 25 करोड़ रही होगी। ये फिल्म एसिड अटैक सरवाइवर लक्ष्मी अग्रवाल (Laxmi Agarwal) के असल जिंदगी की कहानी है। इस फिल्म का निर्देशन मेघना गुलजार (Meghna Gulzar) ने किया है।

फिल्म को लेकर फैंस के बीच खासा क्रेज है। लोग फिल्म को देखने सिनेमाघर पहुंच रहे है। फिल्म में दीपिका पादुकोण के साथ विक्रांत मेसी (Vikrant Massey) लीड रोल में है। फिल्म की कहानी आपको (Chhapaak Movie Story) अंदर से झकझोर देगी।

फिल्म (Chhapaak) की कहानी- कहानी की शुरुआत एसिड अटैक सर्वाइवर मालती से होती है, जो अच्छी नौकरी की ढूंढ रही है। फिल्म में मालती का किरदार दीपिका पादुकोण ने निभाया है। मालती को जॉब इसलिए नहीं दी जाती, क्योंकि उसका चेहरा बुरी तरह जला हुआ है।

एसिड से जले हुए चेहरे को फिर से संवारने के लिए मालती कई सर्जरी कराती है, लेकिन मानो जैसे वो भयानक घटना उसके चेहरे से हटने का नाम ही ना ले रही है। मालती का चेहरा फिर से वापस वैसा नहीं सका... यहां मालती अमोल को अपने साथ हुए त्रासदी के बारे में सोचती है।

यहां से मालती की वो जिंदगी दिखाई जाती है, जब वो काफी खुश थीं। 19 साल की मालती सिंगर बनना चाहती थी... लेकिन उसके ऊपर हुए एसिड अटैक ने उसके चेहरे के साथ-साथ उसके सपनों को भी जला दिया। लोगों को शक मालती के दोस्त राजेश पर जाता है।

वकील अर्चना एसिड को बैन किए जाने की याचिका दायर करती है। इस केस को लड़ाई के दौरान मालती एसिड विक्टिम सर्वाइवर्स के लिए काम करने वाले एनजीओ से जुड़ती है, जहां कई एसिड विक्टिम्स से वो मिलती है। इसी एनजीओ में काम करने के दौरान उसकी मुलाकात अमोल से होती है।

अमोल का किरदार विक्रांत मैसी ने निभाया है। अमोल अपनी पत्रकार की नौकरी छोड़कर एनजीओ के लिए काम करता है। यहां अमोल और मालती का दोस्ती हो जाती है। अमोल मालती के केस में भी काफी हेल्प करता है।

इस दौरान दोनों का आपस में प्यार हो जाता है। फिल्म आपको अपने साथ जोड़ी रखेगी। फिल्म में कही भी मेलोड्रामा या ओवर व्यूज नहीं है। फिल्म में सबसे ज्यादा तारीफ दीपका का प्रॉस्थेटिक मेकअप की होनी चाहिए, क्योंकि दीपिका का मेकअप ही कहानी में सबसे ज्यादा जान डाल रहा है।

फिल्म में दीपिका पादुकोण ने अभी तक की सबसे बेस्ट परफॉर्मेंस दी है। मालती के किरदार में आपको दर्द, खुशी, हिम्मत सबकुछ देखने को मिलेगा। मालती पर अटैक होना, उसका पहली बार अपने आप को आईने में, अपनी लड़ाई लड़ना और छोटी-छोटी जीत पर खुश होना, दीपिका ने हर सीन में मेहनत के दम पर जान डाल दी है।

वहीं विक्रांत मैसी भी कुछ कम नहीं है। उनका किरदार आपके दिल को छू लेगा... डायलॉग्स और लुक भी काफी अच्छे है। विक्रांत की एक्टिंग देख आपको उनसे प्यार हो जाएगा। विक्रांत और दीपिका के अलावा फिल्म के बाकी एक्टर्स अंकित बिष्ट, मधुरजीत सरघी संग देवस दीक्षित समेत सपोर्टिंग एक्टर्स ने बेहतरीन काम किया है।

Next Story
Top