Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गृह मंत्रालय का दावा, मेडिकल टूरिज्म से दुनिया में बढ़ी भारत की ख्याति

मेडिकल सुविधाओं के मामले में भारत की ख्याति दुनिया में तेजी से मजबूत हो रही है। गृह मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 2016 में 2 लाख से ज्यादा विदेशी इलाज कराने के लिए भारत आए।

गृह मंत्रालय का दावा, मेडिकल टूरिज्म से दुनिया में बढ़ी भारत की ख्याति

मेडिकल सुविधाओं के मामले में भारत की ख्याति दुनिया में तेजी से मजबूत हो रही है। गृह मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 2016 में 2 लाख से ज्यादा विदेशी इलाज कराने के लिए भारत आए।

इनमें सबसे ज्यादा संख्या बांग्लादेशियों और अफगानियों की है। पाकिस्तान के 1678 और अमेरिका के 296 लोगों को भी मेडिकल वीजा जारी किए गए। बता दें कि अनुमान के मुताबिक, देश में मेडिकल टूरिज्म करीब 19 हजार 266 करोड़ का है, जो आने वाले कुछ सालों में 3 गुना तक बढ़ सकता है।

यह भी पढ़ेंः खुशखबरी: अब विद्यार्थियों को JEE में रैंक के आधार पर मिलेगी छात्रवृत्ति

सबसे ज्यादा बांग्लादेशी आए

गृह मंत्रालय के मुताबिक, 2014 में केंद्र सरकार ने अपनी वीजा पॉलिसी को आसान बनाया। इसके बाद 2016 में 54 देशों के 2,01,099 लोगों को मेडिकल वीजा दिए गए। मंत्रालय के आंकड़ों की मानें तो 2016 में सबसे ज्यादा बांग्लादेशियों (99,799) को वीजा जारी किए गए।

इसके बाद दूसरे नंबर पर अफगानिस्तान के 33 हजार, इराक के 13 हजार, ओमान के 12 हजार, उज्बेकिस्तान के 4420 और नाइजारिया के 4 हजार समेत कई देशों के लोग शामिल हैं।

इसके अलावा पाकिस्तान के 1678, अमेरिका के 296, ब्रिटेश के 370, रूस के 96 और ऑस्ट्रेलिया के 75 लोगों को भी मेडिकल वीजा दिए गए थे।

यह भी पढ़ेंः दूरसंचार क्षेत्र में जॉब करने वालों के लिए बुरी खबर, जा सकती है 50 हजार नौकरियां

सस्ता और बेहतर इलाज के लिए आर रहे मरीज

पिछले दिनों बिजनेस चेंबर के सर्वे में सामने आया कि भारत में विकसित देशों के मुकाबले इलाज सस्ता और बेहतर है। इसीलिए इलाज के लिए भारत आने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है।

फिलहाल, भारत में मेडिकल टूरिज्म 3 अरब डालर (19 हजार 266 करोड़ रुपए) होने का अनुमान है। जो आने वाले 2-3 साल में करीब 3 गुना तक बढ़ सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top