Hari Bhoomi Logo
गुरुवार, सितम्बर 21, 2017  
Top

महिला विश्वकप 2017: इन 5 कारणों से चैंपियन बनने से चूक गई टीम इंडिया

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 24 2017 3:47AM IST
महिला विश्वकप 2017: इन 5 कारणों से चैंपियन बनने से चूक गई टीम इंडिया

आईसीसी महिला विश्व कप फाइनल मुकाबले में भारतीय महिला क्रिकेट टीम को इंग्लैंड टीम के हाथों 9 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस तरह से भारत का खिताब हासिल करने का मौका बहुत नजदीक से हाथ से निकल गया।

टीम इंडिया इतिहास बनने से बस एक कदम दूर गई। एक समय तो ऐसा लग रहा रहा था जैसे इंडिया बहुत आसानी से पहली बार विश्व कप पर कब्जा कर ही लेगी पर एन वक्त पर इंडिया पिछड़ गई।

इसे भी पढ़े:- महिला विश्वकप फाइनल: 9 रन से इंडिया को हराकर इंग्लैंड चौथी बार वर्ल्ड चैंपियन

आइये जानते है क्या कारण रहा जो टीम इंडिया खिताब नहीं बचा पाई। ये है वो कारण 

शुरूआती अच्छी गेंदबाजी को कायम नहीं रख पाई  

एक समय भारतीय गेंदबाजों ने 11 से 16 ओवर के बीच में इंग्लैंड टीम को लगातार तीन झटके दिए, लेकिन सारा टेलर और नताली स्काइवर की 83 रनों की साझेदारी ने टीम को संभाल लिया, जिसकी बदौलत उनकी टीम 228 रन बनाने में सफर रही।

नियमित अन्तराल पर विकेट का गिरना  

जब हरमनप्रीत आउट हुईं तो टीम का स्कोर 191 पर 4 विकेट था। ऐसा लग रहा था की भारत आसानी से जीत जाएगा, लेकिन 42वें ओवर के बाद लगातार एक-एक बाद चार विकेट गिर गए। जिससे भारतीय टीम बैकफुट पर आ गई और प्रशंसकों में मायूसी छा गई।

28 रनों के अंदर गंवाए 7 विकेट 

भारत की हार का सबसे बड़ा कारण मैच के आखिरी ओवरों में शर्मनाक प्रदर्शन का रहना है। टीम ने आखिरी 7 विकेट महज 28 रन के अंदर गंवा दिए। जिसके बाद पूरी टीम 219 रन पर ऑल आउट हो गई और मैच 9 रन से भारतीय टीम मैच हार गई। 

अंत में दीप्ती शर्मा का आउट होना 

यहां तक मैच एकदम भारत के पक्ष में जा रहा था। भारत को आखिरी दो ओवरों में जीत के लिए 11 रनों की जरुरत थी। दीप्ती शर्मा अच्छा टच में खेल रही थी पर दीप्ती के आउट होते ही मैच भारत के हाथ से निकल गया।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
team india missed due to these 5 reasons to become champion

-Tags:#Women World Cup final#India#England
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo