Breaking News
Top

पहली बार दिल टूटने का दर्द इतना गहरा क्यों होता है

namita shrivastava | UPDATED Jan 17 2017 1:01PM IST
नई दिल्ली. 'प्यार' प्यार वो खूबसूरत अहसास है जिसमें व्यक्ति खुद को बेहद खुशनसीब महसूस करता है। जब पहली बार प्यार होता है तो व्यक्ति के चारों तरफ खुशियां ही खुशियां रहती है। प्यार में व्यक्ति एक-दूसरे से दिल से जुड़ा हुआ होता है। लेकिन जब ये पहला प्यार टूटता है तो इसका दर्द भी बेहद गहरा होता है। 
 
 
आज के समय में जिस तरह से लोगों का प्यार में दिल टूट रहा है उसे देखकर लगता है प्यार की परिभाषा ही बदल गई है। पहले लोग जितनी जल्दी प्यार पर भरोसा करते थे आज उतनी ही जल्दी प्यार से भरोसा उठते जा रहा है। लोग छोटी-छोटी खींच-तान से एक-दूसरे को छोड़ने में वक्त नहीं लगाते हैं।  
 
हो सकता है आपने भी प्यार में कभी न कभी धोखा खाया होगा। यकीनन दिल के हजार टुकड़े भी हुए होंगे। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर दिल टूटने का दर्द इतना गहरा क्यों होता है? चलिए बताते हैं। 
 
दरअसल, आज के समय में अधिकांश लोग सिर्फ अपना मतलब निकालने के लिये एक दूसरे से रिश्ता जोड़ते हैं, और उस मतलबी रिश्ते को प्यार का नाम दे देते हैं। इस तरह के रिश्ते में एक शख्स प्यार में बेहद सीरियस हो जाता है और दूसरा सिर्फ प्यार का दिखावा करता है। लेकिन बता दें कि ऐसा रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं चलता। और दिल टूट जाता है। 
 
 
जब प्यार होता है तो दिल और दिमाग दोनों एक साथ काम करता है। जानकारों का कहना है जब कोई प्यार में होता है तो खुद को कभी अकेला महसूस नहीं करता है। वह अपने हर पल में पार्टनर को लेकर चलने की कोशिश करता है। लेकिन जब दिल टूटता है तो सिर्फ दिल ही नहीं टूटता बल्कि हजार सपने भी टूटते हैं। वह शख्स अकेला हो जाता है और इंसान के लिए अकेले रहना और उस स्थित से उभरना काफी मुश्किल हो जाता है। यही वजह है जिससे दिल टूटने का दर्द इतना तकलीफदेय होता है। 
 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo