Logo
election banner
Divya Pahuja Case: गुरुग्राम में एक होटल में 2 जनवरी को दिव्या पाहुजी गोली मारकर कर हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस ने चार्जशीट फाइल कर दी है। पुलिस की तरफ से दिव्या पाहुजा हत्याकांड में 42 गवाह बनाए गए हैं।

Divya Pahuja Murder Case: हरियाणा के गुरुग्राम का बहुचर्चित दिव्या पाहुजा हत्याकांड में मुख्य आरोपी होटल सिटी पॉइंट के मालिक अभिजीत ने बड़ा खुलासा किया है। दरअसल, अभिजीत ने बताया कि दिव्या पाहुजा समलैंगिक थी। उसने कहा कि जब दिव्या ने उससे होटल में लड़की की डिमांड की तो मैंने दिल्ली से मेधा को बुलाया था। गुरुग्राम पुलिस ने कोर्ट में पेश चालान में अभिजीत के यह बयान लगाए हैं।

जानकारी के मुताबिक दिव्या पाहुजा मर्डर केस में मंगलवार को गुरुग्राम पुलिस ने 523 पन्नों की चार्जशीट फाइल की है। गुरुग्राम पुलिस ने अपनी चार्जशीट में होटल सिटी पॉइंट के मालिक अभिजीत सिंह सहित सात लोगों को आरोपी बनाया है। अभिजीत सिंह ने कहा कि दिव्या के पास उसकी कुछ अश्लील तस्वीरें और वीडियो थे, जिनके जरिए वो उसे ब्लैकमेल कर रुपए मांग रही थी।

ब्लैकमेल कर रही थी दिव्या

इसके साथ ही अभिजीत ने यह भी कहा है कि दिव्या उस पर 30 लाख रुपये देने का दबाव डाल रही थी। इसकी वजह से उसने गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं, गुरुग्राम पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि उसे ऐसा कोई सबूत नहीं मिला, जो ब्लैकमेलिंग के इस दावे को सच साबित करे। बताते चले कि मॉडल दिव्या पाहुजा की 2 जनवरी 2024 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

बलराज और रवि बंगा को सौंपा था बॉडी

पूर्व मॉडल पाहुजा की हत्या के बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए अभिजीत सिंह ने अपने साथी बलराज और रवि बंगा को BMW कार और 10 लाख रुपये देकर डेडबॉडी उन्हें सौंप दी थी। दोनों आरोपियों ने दिव्या की लाश को पंजाब के पटियाला स्थित भाखड़ा नहर में फेंक दिया था। इसके बाद काफी मशक्कत के बाद दिव्या की लाश 12 दिन बाद भाखड़ा नहर से बरामद हुई थी।

पुलिस ने बनाए 42 गवाह

पुलिस की तरफ से दिव्या पाहुजा हत्याकांड में 42 गवाह बनाए गए हैं। तीन जनवरी को दिव्या की बहन नैना पाहुजा की शिकायत पर सेक्टर-14 थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया था। इस हत्याकांड में अभिजीत सिंह, उसका पीएसओ प्रवेश, उसकी दूसरी गर्लफ्रेंड मेघा, होटल कर्मचारी हेमराज, ओम प्रकाश और बलराज को गिरफ्तार किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें:- Divya Pahuja के फोन में नहीं मिली कोई फोटो और वीडियो

अभिजीत ने पुलिस को बताया कि दिव्या से उसकी मुलाकात 2014 में हुई। वह गुरुग्राम में मेरे होटल सिटी पॉइंट के पास बस स्टैंड पर आती-जाती थी। मेरे और दिव्या के अवैध संबंध थे। इसके बाद 2016 में दिव्या संदीप गाडौली की हत्या केस में जेल चली गई थी। वह जुलाई में जेल बाहर आई थी और फिर से अभिजीत से मिलने लगी थी।

होटल संचालक अनूप को भी नोटिस

पुलिस की जांच के दौरान होटल संचालक अनूप को भी नोटिस जारी किया गया है। उसकी ओर से मौके पर पहुंची पुलिस टीम को गुमराह करने का आरोप है। पुलिस उसका भी बयान दर्ज करेगी। उस पर आरोप है कि अगर उसने जांच में पहले पुलिस टीम की मदद की होती तो दिव्या पाहुजा का शव शहर से बाहर न गया होता।

सिटी प्वाइंट होटल के मालिक अभिजीत को अवैध हथियार रखने का शौक था। पुलिस को छानबीन के दौरान पता चला कि उसे अवैध हथियार की आपूर्ति नदीम करता था। हत्याकांड में सात लोगों की गिरफ्तारी के बाद केवल नदीम की अभी पुलिस की पहुंच से दूर है। पुलिस उसे पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।

jindal steel Ad
5379487