Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंडोनेशिया मास्टर्स: साइना नेहवाल ने खिताब जीतकर रचा इतिहास, बीच मुकाबले से हटी कैरोलिना मारिन

शीर्ष भारतीय शटलर साइना नेहवाल ने रविवार को इंडोनेशिया मास्टर्स के फाइनल में तीन बार की विश्व चैम्पियन कैरोलिना मारिन के पैर में चोट के कारण हटने से दो साल में पहला बीडब्ल्यूएफ खिताब अपने नाम किया।

इंडोनेशिया मास्टर्स: साइना नेहवाल ने खिताब जीतकर रचा इतिहास, बीच मुकाबले से हटी कैरोलिना मारिन
X

Indonesia Masters 2019 Saina Nehwal

जकार्ता। शीर्ष भारतीय शटलर साइना नेहवाल ने रविवार को यहां इंडोनेशिया मास्टर्स के फाइनल में तीन बार की विश्व चैम्पियन कैरोलिना मारिन के पैर में चोट के कारण हटने से दो साल में पहला बीडब्ल्यूएफ खिताब अपने नाम किया। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदकधारी शुरूआती गेम में 4-10 से पिछड़ रही थी, तब मारिन ने मैच से हटने का निर्णय लिया। साइना ने पिछला बीडब्ल्यूएफ खिताब 2017 में मलेशिया में जीता था।

केवल सात मिनट चला मुकाबला

साइना की प्रतिद्वंद्वी स्पेन की कैरोलिना मारिन चोट के कारण रिटायर्ड हर्ट हो गई। मैच केवल सात मिनट तक चल पाया था कि अपना पहला स्मैश लगाने के बाद तीन बार की वर्ल्ड चैंपियन मारिन के दाएं घुटने में चोट लगी। उन्होंने चोट के बावजूद कोर्ट पर वापसी करने की कोशिश की और भारतीय खिलाड़ी के खिलाफ पहले गेम में 10-4 की बढ़त भी बना ली लेकिन वह आगे नहीं खेल पाईं।

साइना बनीं पहली भारतीय खिलाड़ी

साइना इस खिताब को जीतने वाली भारत की पहली महिला खिलाड़ी बन गई हैं। मैच के बाद उन्होंने कहा कि हम सभी के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण साल है। यह हमारे लिए अच्छा नहीं रहा। वह एक कठिन प्रतिद्वंद्वी है, उन्होंने अच्छी शुरुआत की और आज जो हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है। ज्ञात हो कि साइना ने पिछले साल पैर में चोट के बाद वापसी करते हुए यहां शानदार प्रदर्शन किया।

खुश हूं पर टिप्पणी नहीं करूंगी

साइना ने कहा कि मैं इस पर अभी टिप्पणी नहीं करना चाहूंगी क्योंकि मैं इस बात से खुश हूं कि ये दोनों टूर्नामेंट सकारात्मक रहे लेकिन मैं जानती हूं कि मुझे ताई जु की बराबरी करने और बड़े टूर्नामेंट के लिये तैयार होने के लिये और समय की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि इसमें अभी एक और महीना है, इसलिये देखते हैं क्या होता है। वहां के हालात थोड़े अलग धीमे होंगे।

साइना-मारिल ऐसे पहुंचीं फाइनल में

उन्होंने शनिवार को महिला एकल के सेमीफाइनल में चीन की हे बिंग जियाओ को 18-21, 21-12, 21-18 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था, वहीं मारिन ने अपने सेमीफाइनल मैच में चीन की चेन युफेई को 21-17, 11-21, 21-23 से हराकर खिताबी मुकाबले में जगह बनाई थी।

अन्य मुकाबलों में ये जीते

मिसाकी और अयाका की जोड़ी ने फाइनल मुकाबले में 40 मिनटों के भीतर साउथ कोरिया की किम सो येओंग और कोंग ही योंग की जोड़ी को सीधे गेमों में 21-19, 21-15 से हराकर खिताबी जीत हासिल की। चीन के झेंग सिवेई और हुआंग याक्विओंग की जोड़ी ने इंडोनेशिया के तोनतोवी अहमद एवं लिलीयान नात्सिक की जोड़ी को तीन गेमों तक चले कड़े मुकाबले में 19-21, 21-19, 21-16 से हराकर पुरुष युगल वर्ग का खिताब अपने नाम किया। मिश्रित युगल वर्ग का खिताब इंडोनेशिया के मार्कस गीडेओन और केविन सुकामुल्जो ने जीता। उन्होंने फाइनल मैच में मोहम्मद अहसान और हेंद्रा सेतियावान की हमवतन जोड़ी को 21-17, 21-11 को हराया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story