Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Lockdown के बाद यूरोपियन फुटबॉल लीग की शुरुआत, खाली स्टेडियम के साथ बदल गए ये नियम

Empty Stadium Guidelines : फुटबॉलर्स जहां पहले गोल के पश्चात गले मिलकर जश्न मनाते दिखते थे, वहीं अब कोनियों को मिलाकर गोल का जश्न मना रहे हैं। डगआउट में बैठे फुटबॉलर्स भी पर्याप्त दूरी बनाकर बैठे नजर आएं, वहीं कोच ने भी उचित बचाव किये हुए थे।

Lockdown के बाद यूरोपियन फुटबॉल लीग की शुरुआत, खाली स्टेडियम के साथ बदल गए ये नियम
X

Empty Stadium Guidelines : यूरोपियन फुटबॉल लीग (Europe Football) की शुरुआत एक बार फिर हो चुकी है, लेकिन फुटबॉल का रंग रूप कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते पूरा बदल चूका है। जहां कभी फुटबॉल स्टेडियम में मैच के दौरान शोर गूंजता रहता था, वहीं अब सन्नाटे में पूरा मैच (Empty Stadium) संपन्न हुआ। पहले जहां गोल के बाद फुटबॉलर एक दूसरे के ऊपर चढ़ जाते थे, वहीं अब साधारण तरीके से जश्न मना रहे हैं।

लॉकडाउन के चलते फुटबॉल मैच और प्रैक्टिस (Football Practice) लगभग पिछले ढाई महीनों से बंद थी, लेकिन अब इसे एक बार फिर नई गाइडलाइन्स के साथ शुरू किया गया है। लंबे समय से घर पर बैठे फुटबॉलर्स को पूरा मैच (90 मिनट) खेलने में थोड़ी दिक्कत आ रही है, ऐसा देखा जा रहा है कि 60 से 70 मिनट के खेल में भी अधिकतर फुटबॉलर इंजरी का शिकार होकर बाहर हो जा रहे हैं। आपको बता दें कि अब एक फुटबॉल मैच में 5 सब्स्टीट्यूट की इजाजत दी गई है।

पहले से ज्यादा बसों में स्टेडियम पहुंच रहे हैं फुटबॉलर

पहले देखा जाता था कि दोनों टीमों के खिलाड़ी 4 बसों में होटल से स्टेडियम पहुंचते थे, लेकिन अब इन फुटबॉलर्स को स्टेडियम में लाने के लिए अधिक बसों का प्रयोग किया जा रहा है। पहले जहां पूरा स्टेडियम दर्शकों से खचाखच भरा रहता था, वहीं अब मात्र 300 लोग स्टेडियम में मौजूद रहते हैं इनमे फुटबॉलर्स और कोच स्टाफ वगैरह भी शामिल है।

Also Read- Harbhajan Singh ने मांगी माफी, Shahid Afridi से कहा- अपनी हद में रहना

कोरोना गाइडलाइन्स में गले नहीं मिल रहे फुटबॉलर

फुटबॉलर्स जहां पहले गोल के पश्चात गले मिलकर जश्न मनाते दिखते थे, वहीं अब कोनियों को मिलाकर गोल का जश्न मना रहे हैं। डगआउट में बैठे फुटबॉलर्स भी पर्याप्त दूरी बनाकर बैठे नजर आएं, वहीं कोच ने भी उचित बचाव किये हुए थे।

पत्रकारों के लिए भी बदली गाइडलाइन्स

पहले जहां फुटबॉलर्स मैच से पहले और बाद में पत्रकारों को नजदीक से इंटरव्यू देते थे, लेकिन अब पत्रकार और फुटबॉलर के बीच भी पर्याप्त दूरी का निर्देश है। अब पत्रकार स्टिक में माइक फंसाकर फुटबॉलर के पास ले जाता है, और दूर से ही सवाल पूछ रहा है। सावधानी के तौर पर पत्रकारों ने माइक को कवर भी किया हुआ है, और समय समय पर कवर को बदलते रहते हैं।

Next Story