Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Commonwealth Weightlifting Championship: भारत की झिल्ली डालाबेहेरा ने रचा इतिहास, 1 गोल्ड समेत 3 मेडल किए अपने नाम

भारत की झिल्ली डालाबेहेरा ने उज्बेकिस्तान के ताशकंद में खेले जा रहे कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में नया इतिहास रचा है। उन्होंने इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 3 मेडल जीते है। इसमें 1 गोल्ड समेत 2 सिल्वर मेडल शामिल है।

Commonwealth Weightlifting Championship: भारत की झिल्ली डालाबेहेरा ने रचा इतिहास, 1 गोल्ड समेत 3 मेडल किए अपने नाम
X

खेल। भारत की झिल्ली डालाबेहेरा (Jhilli Dalabehera) ने उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) के ताशकंद (Tashkent) में खेले जा रहे कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप (Commonwealth Weightlifting Championship) में नया इतिहास रचा है। उन्होंने इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 3 मेडल जीते है। इसमें 1 गोल्ड समेत 2 सिल्वर मेडल शामिल है। डालाबेहेरा ने गोल्ड मेडल महिला भारोत्तोलन के 49 किलो वर्ग में स्नैच कैटेगरी में जीता।

SAI ने भी दी डालाबेहेरा को बधाई

डालाबेहेरा को भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने उनकी इस कामयाबी के लिए बधाई दी है। साथ ही उनकी जीत वाली तस्वीर को भी शेयर किया है। 22 वर्षीय ओडिशा की रहने वाली वेटलिफ्टर डालाबेहेरा 49 किलोग्राम वर्ग में दूसरे स्थान पर रहीं हैं। यह वही भारवर्ग है जिसमें मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल हासिल किया था। मीराबाई इस टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं हैं, क्योंकि वह ब्रेक पर हैं।

49 किग्रा वर्ग में लिया था हिस्सा

ओडिशा की रहने वाली डालाबेहेरा ने एशियन चैंपियन और विश्व जूनियर चैंपियनशिप टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 45 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक हासिल किया था। 45 किलोग्राम भारवर्ग को ओलंपिक खेलों में शामिल नहीं किया जाता है। इसलिए डालाबेहेरा ने 49 किलोग्राम में हिस्सा लेकर भारत के लिए इतिहास रच डाला। 167 किलोग्राम भार डालाबेहेरा का सबसे अच्छा प्रदर्शन भी है।

Next Story