Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खिलाड़ियों की गोद में बैठना और ये सब करना, ये हैं चीयरलीडर्स की जिंदगी के कड़वे सच

चीयरगर्ल्स को हर हफ्ते 6 से 15 घंटे प्रैक्टिस करनी पड़ती है और इसका कोई पैसा नहीं मिलता।

खिलाड़ियों की गोद में बैठना और ये सब करना, ये हैं चीयरलीडर्स की जिंदगी के कड़वे सच
X
फुटबॉल टीम तम्पा बे बुकानीर्स की पूर्व चीयरलीडर का कहना है कि एक मैच के लिए उन्हें सिर्फ 100 डॉलर ही मिलते थे।
Next Story