Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाला 50 करोड़ की ड्रग्स के साथ गिरफ्तार

2004 में ऑस्ट्रेलिया में हुए यूथ कॉमनवेल्थ गेम्स डिस्कस प्रतियोगता में सिल्वर मेडल जीता था।

कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाला 50 करोड़ की ड्रग्स के साथ गिरफ्तार
नई दिल्ली. विदेश से लाकर शहरों की रेव पार्टियों में इस्तेमाल होने वाले म्याऊं-म्याऊं ड्रग्स के साथ तीन तस्करों को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कॉमनवेल्थ गेम्स के खिलाड़ी हरप्रीत सिंह, अमनदीप सिंह और हरनिश सरपाल को गिरफ्तार कर लिया है।
दिल्ली पुलिस सूचना मिली थी कि इन लोगों के पास 25 किलो से ज्यादा की 'म्याऊ-म्याऊ' ड्रग्स है जिसके बाद ये बरामद की है, इसकी मार्किट कीमत 50 करोड़ है। पुलिस के मुताबिक 11 फरवरी को स्पेशल सेल को जानकारी मिली कि अमनदीप सिंह अपने साथियों के साथ ड्रग्स की खेप लेने के लिए मुंबई जा रहा है और 13 फरवरी को लौटेगा. हालांकि बाद में पता चला कि अमनदीप 13 फरवरी को नहीं बल्कि 15 फरवरी को सुबह दादर-अमृतसर एक्सप्रेस से नई दिल्ली स्टेशन पहुंचेगा।
बता दें हरप्रीत सिंह वही शख्स है जिसने 2004 में ऑस्ट्रेलिया में हुए यूथ कॉमनवेल्थ गेम्स डिस्कस प्रतियोगता में सिल्वर मेडल जीतकर देश का गौरव बढ़ाया था। अमनदीप को उसके साथी हरप्रीत के साथ नई दिल्ली स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले साल 2004 के अलावा 2006 में कोलंबो में एसएएफ गेम्स में ब्रांज मेडल जीता और राष्ट्रीय अवार्ड भी जीते, लेकिन 2006-2007 में डोपिंग टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने पर उस पर रोक लगा दी। साल 2010 में कॉमनवेल्थ गेम्स के पहले उसको चोट लग गई और फिर उसने खेल की दुनिया को अलविदा कह कर ड्रग्स की दुनिया में चला गया।
पुलिस के अनुसार मेफेड्रोन ड्रग बहुत ही फाइन क्वालिटी की होती है और यह पार्टियों में म्याऊ-म्याऊ नाम से प्रचलित है। पाउडर के रूप में होने वाले इस ड्रग को युवा नाक या फिर इंजेक्शन के जरिए लेते हैं। यह ड्रग सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर असर डालता और ज्यादा मात्रा में लेने पर व्यक्ति को शारीरिक व मनोवैज्ञानिक रूप से अपना आदी बना देता है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top