Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीस हजारी विवाद: दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की पुलिस और गृह मंत्रालय की याचिका

तीस हजारी कोर्ट विवाद पर पुलिस के बाद अब वकीलों ने मोर्चा खोल दिया है और न्याय की मांग कर रहे हैं।

Tis Hazari clash Police and lawyers Delhi High Court today live update
X
दिल्ली वकील

दिल्ली के तीस हजारी में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प मामले को लेकर आज बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट में हुई। दोनों ही पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए केस दर्ज करवाया था। दो नवंबर को तीस हजारी कोर्ट के अंदर पार्किंग को लेकर विवाद हुआ था। विवाद इतना बढ़ गया कि पुलिस को फायरिंग तक करनी पड़ी और गुस्साए वकीलों और जवानों के बीच मारपीट हो गई। इस दौरान 20 लोग घायल हुए और आगजनी की घटना भी सामने आई थी।

लाइव अपडेट (Live Update)

गुजरात भारतीय पुलिस सेवा संघ ने कहा है कि हम दो नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में पुलिस अधिकारियों के खिलाफ एकमत से हिंसा की निंदा करते हैं। हम दिल्ली के पुलिस अधिकारियों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करते हैं और हिंसा के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की अपील करते हैं।

हिंसा मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि गृह मंत्रालय की स्पष्टीकरण की मांग वाली अर्जी का निपटारा कर दिया गया है। कोर्ट ने जो कमिटी बनाई वह मामले की जांच कर रही है। मीडिया रिपोर्टिंग पर कोई रोक नहीं है। कोर्ट ने कहा हमने अपने रविवार के आदेश में कहा था कि केवल दो एफआईआर जो उस दिन तक दर्ज हुई हैं, उसको लेकर कार्रवाई नहीं होगी। उसके बाद यदि कोई एफआईआर दर्ज हुई है तो उस पर दिल्ली पुलिस कार्रवाई कर सकती है। दिल्ली हाई कोर्ट ने अपने आदेश में किसी तरह का स्पष्टीकरण देने से इनकार कर दिया। हाई कोर्ट ने कहा सभी कुछ हमने अपने आदेश में लिखा था।

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस और गृह मंत्रालय की याचिका खारिज कर दी है।

दिल्ली हाईकोर्ट ने साकेत कोर्ट में पुलिसकर्मी के साथ हुई मारपीट की घटना पर अन्य याचिका की रद्द

तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुए विवाद पर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है।

मंगलवार को पुलिस हेडक्वाटर के बाहर दिल्ली पुलिस द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन को लेकर बार काउंसल ऑफ इंडिया (Bar Council Of India) ने कहा है कि हमने दिल्ली पुलिस की अनियंत्रित भीड़, विरोध प्रदर्शन और गंदे स्लोगनों पर कल की मीडिया रिपोर्ट को देखा है। स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह सबसे काला दिन था। निश्चित रूप से यह एक राजनीतिक प्रबंधित कदम की तरह लग रहा था और यह बहुत दुखद है।

एनसीपी नेता शरद पवार ने दिल्ली में पुलिस और वकीलों के बीच चल रहे विवाद को बेहद दुखद बताया है। उन्होंने कहा कि पुलिसवाले बिना छुट्टी के 18 घंटे काम करते हैं।

दिल्ली की तीन कोर्ट रोहिणी, साकेत और पटियाला हाउस कोर्ट में काम बंद हो गया है।

दिल्ली में बीती 2 नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुई झड़प के विरोध में वकीलों की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी। रोहिणी कोर्ट के एक वकील ने कहा कि हमारी लड़ाई केवल उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ है, जिन्होंने हम पर गोली चलाई थी और उस दिन लाठीचार्ज किया था। उनकी गिरफ्तारी हो।

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से मिलने पहुंचे पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक और अन्य वरिष्ठ अधिकारी

रोहिणी कोर्ट के बाहर एक प्रदर्शनकारी वकील ने खुद को आग लगाने की कोशिश की, लेकिन समय रहते साथी वकीलों ने उसे रोक लिया।

रोहिणी के बाद अब साकेत कोर्ट के बाहर दिल्ली पुलिस के खिलाफ वकीलों का प्रदर्शन शुरू हो गया है।

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट के बाहर वकीलों का प्रदर्शन हो रहा है, सभी वकील न्याय की मांग कर रहे हैं। आज भी कोर्ट में काम ठप।

सुप्रीम कोर्ट के एक वकील ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनाटक को भेजा कानूनी नोटिस

तीस हजारी अदालत मामले में पुलिस दिल्ली उच्च न्यायालय में एक समीक्षा याचिका दायर करेगी। दिल्ली पुलिस 3 नवंबर को उच्च न्यायालय से अपने आदेश पर नए सिरे से विचार करने की मांग करेगी। अदालत ने न्यायिक जांच के आदेश दिए थे।

तीस हजारी विवाद के दो दिन बाद सांकेत कोर्ट के बाहर पुलिस जवान को पीटने का वीडियो वायरल हो रहा है। जिसको लेकर आरोपी वकील के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं।

बता दें कि सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय और सभी जिला अदालतों में वकीलों की हड़ताल थी। वहीं वकीलों ने दिल्ली उच्च न्यायालय में न्यायाधीशों के सामने पेश होने से भी इनकार कर दिया।

वकीलों ने कहा कि वो कोई भी काम नहीं करेगा और विभिन्न मामलों में तारीख लेने के लिए अदालतों में केवल प्रॉक्सी वकील ही उपस्थित होंगे। इसके अलावा वकीलों ने न केवल वाहनों को रोककर सड़कों पर विरोध किया, बल्कि पत्रकारों और आम लोगों को भी पीटा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story