Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मेडिकल ऑक्सीजन ले जा रहे टैंकर को नहीं चुकाना होगा टोल टैक्स

देश में कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की गंभीर किल्लत हो गई है। सरकार के साथ निजी कंपनियां और पीएसयू भी अब मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिए काफी कोशिश कर रही हैं। इस बीच नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने कहा है कि लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन ले जा रहे टैंकर को नेशनल हाईवे पर अब टोल टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा।

मेडिकल ऑक्सीजन ले जा रहे टैंकर को नहीं चुकाना होगा टोल टैक्स
X

 ऑक्सीजन टैंकर (प्रतीकात्मक फोटो)

देश में कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की गंभीर किल्लत हो गई है। सरकार के साथ निजी कंपनियां और पीएसयू भी अब मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिए काफी कोशिश कर रही हैं। इस बीच नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने कहा है कि लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन ले जा रहे टैंकर को नेशनल हाईवे पर अब टोल टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा।

इस वजह से मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए जा रहे टैंकर निर्बाध रूप से यात्रा कर सकेंगे। देश में मेडिकल ऑक्सीजन की काफी कमी महसूस की जा रही है और इस वजह से अलग-अलग इलाकों से कंटेनर मेडिकल ऑक्सीजन लेकर जरूरतमंद अस्पतालों तक पहुंचा रहे हैं। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने एंबुलेंस जैसे इमरजेंसी व्हीकल की तर्ज पर मेडिकल ऑक्सीजन ले जा रहे टैंकर को भी फ्री पास देने का फैसला किया है। यह आदेश अगले दो महीने तक लागू रहेगा।

कोरोना से लड़ाई में मदद देने के निर्देश

देश में पिछले कुछ समय से फास्टैग का नियम लागू होने के बाद टोल प्लाजा पर वाहनों को जीरो वेटिंग टाइम लगता है। मेडिकल ऑक्सीजन के ट्रांसपोर्टेशन के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया वाहनों को प्राथमिकता के आधार पर पास दे रहा है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने अपने सभी अधिकारियों और संबंधित पक्षों को कहा है कि कोरोनावायरस से लड़ाई में सरकार और निजी पक्षों के प्रयास में मदद करें।

लिक्विड ऑक्सीजन की बढ़ी मांग

देश में कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की काफी मांग देखी जा रही है। चिकित्सा आपदा की मौजूदा स्थिति में अस्पताल और मेडिकल सेंटर को लिक्विड मैक्सी मेडिकल ऑक्सीजन की समय पर आपूर्ति बहुत महत्वपूर्ण कदम है। इससे देशभर में हजारों मरीज की जान बचाई जा सकती है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने कहा है कि टोल प्लाजा पर टोल टैक्स देने से छूट दिए जाने के बाद मेडिकल ऑक्सीजन की 30 डिलीवरी सुनिश्चित की जा सकेगी।

देश भर में लगाये जा रहे हैं ऑक्सीजन प्लांट

उत्तर प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, गोवा, केरल, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, ओडिशा, मध्य प्रदेश और दिल्ली के हॉस्पिटल्स के लिए ओआईएल पीएसयू मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट लगा रही हैं। कोविड19 की दूसरी लहर के बीच देश में ऑक्सीजन की भारी किल्लत पैदा हो गई है। हॉस्पिटल बेड और दवाओं की कमी भी सामने आ रही है, ऐसे में ओआईएल पीएसयू के इस ऐलान से राहत मिल सकती है।

Next Story