Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Swami Vivekananda Birthday : जब विवेकानंद जी ने विदेशी महिला से कहा, मुझे अपना पुत्र बना लो

Swami Vivekananda Birthday : स्वामी विवेकानंद जी सनातम धर्म के प्रचारक थे। स्वामी विवेकानंद जी अपने सम्पूर्ण जीवन में ब्रह्मचारी जीवन व्यतीत किया था। स्वामी विवेकानद जी कहते थे अगर व्यक्ति को भगवान की सेवा करनी है तो उसे मानव जाति की सेवा करनी होगी।

Swami Vivekananda Birthday: जब विवेकानंद जी ने विदेशी महिला से कहा, मुझे अपना पुत्र बना लोSwami Vivekananda Birthday: स्वामी विवेकानंद जी

Swami Vivekananda Birthday: 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में जन्मे स्वामी विवेकानंद जी का असली नाम नरेन्द्रनाथ दत्त था। स्वामी विवेकानंद जी शुरू से ही धर्म के प्रति आकर्षित थे। स्वामी विवेकानंद जी महापुरुष रामकृष्ण परमहंस जी के शिष्य थे। विवेकानंद जी ने अपने गुरु की मृत्यु के बाद रामकृष्ण मिशन की शुरुआत भी की थी। स्वामी विवेकानद जी की माता जी खुद धार्मिक विचारों वाली थी, उनके पिताजी विख्यात वकील थे।

स्वामी विवेकानंद जी का कहना था कि अगर मनुष्य भगवान की सच्ची सेवा करना चाहता है तो उसे मानव जाति की सेवा करनी होगी क्योंकि ऐसा करने से आप भगवान की ही सेवा करते हो। स्वामी विवेकानंद ने अपने जीवन में कई देशों व सम्पूर्ण भारत का भ्रमण किया था। एक बार स्वामी विवेकानंद जी विदेश में थे, तब एक महिला से उनसे कहा मै आपसे शादी करना चाहती हूं। जानिए इस पर स्वामी विवेकानंद जी ने विदेशी महिला से क्या कहा।

विदेशी महिला को विवेकानंद जी का जवाब

स्वामी जी विदेश में थे तब उनसे मिलने एक महिला आई। विदेशी महिला विवेकानंद जी के विचारों से आकर्षित थी। महिला ने स्वामी विवेकानंद जी से कहा कि आप मुझसे शादी कर लीजिए। मै चाहती हूं कि मेरी जो संतान हो वो आपकी जैसी हो, आपके विचारों वाली हो।

महिला के इस प्रस्ताव पर स्वामी विवेकानंद जी ने महिला से कहा- देखिए मै एक एक ब्रह्मचारी व्यक्ति हूं, आपसे शादी नहीं कर सकता लेकिन मै आपकी समस्या का समाधान कर सकता हूं। स्वामी विवेकानंद जी ने महिला से कहा आप मुझे अपना पुत्र बना लीजिए। आपको मै स्वयं पुत्र के रूप में मिल जाऊंगा और इससे मेरी ब्रह्मचारी की प्रतिज्ञा भी नहीं टूटेगी।

Next Story
Top