Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SSC Scam: पार्थ चटर्जी को AIIMS भुवनेश्वर से मिली छुट्टी, अब तीन अगस्त तक कोलकाता में ईडी की हिरासत में रहेंगे

पश्चिम बंगाल के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को तीन अगस्त के लिए ईडी की हिरासत में भेजने के निर्देश दिए थे। सोमवार को पार्थ चटर्जी को खराब तबीयत के चलते कोलकाता से भुवनेश्वर लाया गया, लेकिन आज...

SSC Scam: पार्थ चटर्जी को AIIMS भुवनेश्वर से मिली छुट्टी, अब तीन अगस्त तक कोलकाता में ईडी की हिरासत में रहेंगे
X

पश्चिम बंगाल के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी को आज भुवनेश्वर से कोलकाता लाया गया। 

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) को AIIMS भुवनेश्वर से छुट्टी मिल गई है। उन्हें आज कड़ी सुरक्षा के बीच कोलकाता (KolKata) में CGO परिसर लाया गया। कोर्ट ने उन्हें तीन अगस्त तक प्रवर्तन निदेशालय (ED) की हिरासत में रखने का आदेश दिया था। साथ ही स्पेशल कोर्ट (Special Court) ने पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी (Arpita Mukherjee) को भी तीन अगस्त के लिए ईडी की हिरासत में भेजा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी ने पश्चिम बंगाल के कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी के लिए 14 दिन की न्यायिक हिरासत की मांग की थी। ईडी ने अपनी दलील में कहा कि चटर्जी बंगाल सरकार की ओर से संचालित SKSM अस्पताल में बीमारी का बहाना बनाकर भर्ती हुए थे। पार्थ चटर्जी को दो दिन की रिमांड पर भेजा था, लेकिन उनके भर्ती होने से पूछताछ नहीं हो सकी।

ईडी ने अदालत के समक्ष पार्थ चटर्जी के स्वास्थ्य की जांच रिपोर्ट सौंपी। एम्स भुवनेश्वर की रिपोर्ट सौंपकर अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि चटर्जी का ब्लडप्रेशर और ऑक्सिजन का स्तर सही है। उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं है। वहीं चटर्जी के वकील ने उनकी जमानत का अनुरोध किया था। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद चटर्जी को भी अर्पिता मुखर्जी की तरह तीन अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजने के निर्देश जारी कर दिए।

सोमवार को लाया गया था एम्स

ईडी ने शुक्रवार को पार्थ चटर्जी के आवास समेत 13 ठिकानों पर छापामारी की थी। इस दौरान पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के घर से 21 करोड़ रुपये की नकदी और जेवरात बरामद हुए थे। इसके बाद से पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किया गया और अर्पिता मुखर्जी को भी हिरासत में लेने के बाद शाम को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद पार्थ चटर्जी ने तबीयत खराब होने का हवाला दिया, जिसके बाद उन्हें एसकेएसएम अस्पताल में भर्ती कराया। उन्हें सोमवार को एम्स भुवनेश्वर में भर्ती कराना पड़ा। एम्स भुवनेश्वर ने कहा कि चटर्जी को भर्ती कराने की जरूरत नहीं है। एम्स ने उन्हें छुट्टी दे दी। ऐसे में उन्हें आज सुबह भुवनेश्वर से कोलकाता लाया गया है। अब तीन अगस्त तक ईडी की हिरासत में रहेंगे।

और पढ़ें
Next Story