Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभाः सोनिया गांधी ने उठाया रायबरेली की रेलवे कोच फैक्ट्री का मुद्दा, कहा-निजीकरण की हो रही कोशिश

लोकसभा में रायबरेली सांसद और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली की रेलवे कोच फैक्ट्री का मुद्दा उठाया। सोनिया गांधी ने कहा कि रेलवे के निजीकरण की कोशिश हो रही है।

लोकसभाः सोनिया गांधी ने उठाया रायबरेली की रेलवे कोच फैक्ट्री का मुद्दा, कहा-निजीकरण की हो रही कोशिशLok Sabha: Sonia Gandhi raises issue of railway coach factory in Rae Bareli.

लोकसभा में रायबरेली सांसद और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली की रेलवे कोच फैक्ट्री का मुद्दा उठाया। सोनिया गांधी ने कहा कि रेलवे के निजीकरण की कोशिश हो रही है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि रायबरेली की कोच फैक्ट्री का कंपनीकरण किया जा रहा है जो कि निजीकरण की शुरूआत है। उन्होंने कहा यह देश की अमूल्य संपत्ति को कौड़ियों के दाम निजी हाथों के हवाले करने की पहली प्रक्रिया है और इससे हजारों लोग बेरोजगार होंगे।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने इस प्रयोग के लिए रायबरेसी की मॉर्डन कोच फैक्ट्री को चुना है, इस मनमोहन सरकार ने देश के घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया था। इसमें बुनियादी क्षमता से ज्यादा उत्पादन हो रहा है और ये रेलवे का सबसे आधुनिक रेलवे कारखाना है। यह सबसे अच्छी इकाइयों में जानी जाती है।

कांग्रेस सांसद ने कहा कि इसमें 2 हजार मजदूरों और कर्मचारियों की मेहनत लगी है लेकिन अब उन परिवारों को भविष्य खतरे में है। सरकार क्यों ऐसी इकाई का कंपनीकरण करना चाहती है। सरकार ने रेल बंजट अलग से पेश करने की पुरानी परंपरा को क्यों खत्म कर दिया।

उन्होंने कहा कि सरकार ने इसके लिए किसी को विश्वास में नहीं लिया है और सरकार को याद दिलाना चाहती हूं कि सार्वजनिक क्षेत्रों का बुनियादी मकसद लोक कल्याण है। पंडित नेहरू ने सार्वजनिक उद्योगों को आधुनिक भारत का मंदिर कहा था और आज इस तरह के मंदिर खतरे में है।

सोनिया गांधी ने आगे कहा कि आज कुछ खास पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए ऐसे उद्योगों को संकट में डाल दिया गया है। एचएएल, एमटीएनएल के साथ क्य़ा हो रहा है यह किसी से छुपा नहीं है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की सभी कंपनियों की रक्षा की जाए।

Share it
Top