Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rashtriya Ekta Diwas: एकता दिवस पर मोदी ने कहा पड़ोसी देश की अपनी सच्चाई स्वीकार करने के बाद राजनीति करने वालों के चेहरे हुए बेनकाब

केवड़िया में एकता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पड़ोसी देश की अपनी सच्चाई स्वीकार करने के बाद उन लोगों के असली चेहरे बेनकाब हो गए हैं, जिन्होंने इस घटना पर राजनीति की थी।

एकता दिवस पर मोदी ने कहा, पड़ोसी देश की अपनी सच्चाई स्वीकार करने के बाद राजनीति करने वालों के चेहरे हुए बेनकाब
X

पीएम नरेंद्र मोदी, फोटो बीजेपी ट्विटर

पीएम मोदी बीते कल से दो दिनों की गुजरात दौरे पर हैं। जहां आज राष्ट्रीय एकता दिवस यानी सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर केवडिया में स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी में पीएम मोदी ने श्रद्धाजंलि अर्पित की। वहीं, राष्ट्रीय एकता दिवस पर परेड का भव्य आयोजन किया गया।

इस मौके पर गुजरात में पीएम मोदी ने कहा कि जिस तरह से भारत में हुए पुलवामा हमले को लेकर पड़ोसी देश ने अपने संसद में सच्चाई को स्वीकार किया है, उससे उन लोगों के असली चेहरे बेनकाब हो गए हैं, जिन्होंने इस घटना पर राजनीति की थी।

आतंकवाद की लड़ाई में सभी देशों को होना होगा एकजुट

आज दुनिया के सभी देशों को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है। आतंकवाद और हिंसा से किसी को फायदा नहीं हो सकता। भारत ने हमेशा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और आगे भी यह लड़ाई जारी रहेगी। लेकिन आतंकवाद को पूरी तरह से खत्म करने के लिए सभी देश को एकजुट होकर आगे आना होगा।

पीएम मोदी का राजनीतिक दलों से अनुरोध

पीएम मोदी ने कहा कि देश यह कभी नहीं भूल सकता कि जब पुलवामा हमले के दौरान सुरक्षाकर्मियों के बलिदान पर कुछ लोग दुखी थे तो उस समय, ये (बिना कांग्रेस का नाम लिए हुए) लोग केवल राजनीति कर रहे थे। मैं ऐसे राजनीतिक दलों से अनुरोध करता हूं कि राष्ट्र के हित में ऐसी राजनीति न करें।

ऐसे राजनीतिक दल देश की सुरक्षा के हित में हमारे सुरक्षाबलों के मनोबल को आगे बढ़ाने का कष्ट करें न कि ऐसी भद्दी राजनीति करें। आप देशविरोधी ताकतों की हाथों में खेलकर न आप देश का हित कर पाएंगे और न ही अपने दल का।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें ये हमेशा याद रखना है कि हम सभी के लिए देशहित सर्वोपरि है। जब हम सबका हित सोचेंगे तभी हमारी भी हित और उन्नति होगी।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story