logo
Breaking

Lok Sabha Elections 2019 Phase 7 : 1500 दागी प्रत्याशियों में 110 महिलाएं भी शुमार, जानें सबसे अमीर और गरीब उम्मीदवार के बारे में

Lok Sabha Elections 2019 Phase 7 : सत्रहवीं लोकसभा के लिए 543 सीटों के लिए लोकसभा चुनाव में किसी भी सियासी दल ने आपराधिक पृष्ठभूमि वालों और करोड़पतियों को प्रत्याशी बनाने में परहेज नहीं किया है, जिसका नतीजा पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस बार की सियासी जंग में दागियों और कुबरो की संख्या में इजाफा हुआ है। मसलन लोकसभा चुनाव के इस महासंग्राम में अपना सियासी भविष्य आजमाने उतरे 8049 प्रत्याशियों में 1500 आपराधिक पृष्ठभूमि यानि दागी और 2297 करोड़पति प्रत्याशी सामने आए। इन दागियों में महिलाएं भी पीछे नहीं रही और 717 महिला प्रत्याशियों में जहां 110 दागियों की फेहरिस्त में शामिल हैं, वहीं 255 करोड़पति के दायरे में हैं।

Lok Sabha Elections 2019 Phase 7 : 1500 दागी प्रत्याशियों में 110 महिलाएं भी शुमार, जानें सबसे अमीर और गरीब उम्मीदवार के बारे में

Lok Sabha Elections 2019 Phase 7 : सत्रहवीं लोकसभा के लिए 543 सीटों के लिए लोकसभा चुनाव में किसी भी सियासी दल ने आपराधिक पृष्ठभूमि वालों और करोड़पतियों को प्रत्याशी बनाने में परहेज नहीं किया है, जिसका नतीजा पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस बार की सियासी जंग में दागियों और कुबरो की संख्या में इजाफा हुआ है। मसलन लोकसभा चुनाव के इस महासंग्राम में अपना सियासी भविष्य आजमाने उतरे 8049 प्रत्याशियों में 1500 आपराधिक पृष्ठभूमि यानि दागी और 2297 करोड़पति प्रत्याशी सामने आए। इन दागियों में महिलाएं भी पीछे नहीं रही और 717 महिला प्रत्याशियों में जहां 110 दागियों की फेहरिस्त में शामिल हैं, वहीं 255 करोड़पति के दायरे में हैं।

इस बार लोकसभा में पिछले चुनाव में 668 के मुकाबले 717 महिलाएं चुनाव मैदान में हैं। इनमें से 110 महिलाओं के खिलाफ आपराधिक मामले लंबित है, जिनमें से 78 के खिलाफ संगीन मामले सामने आए हैं। एडीआर की एक विश्लेषण रिपोर्ट के अनुसार सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव में 1500 दागी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

संगीन मामलों के लिए आरोपी महिला प्रत्याशियों में दो पर दोषसिद्ध हो चुका है। जबकि चार के खिलाफ हत्या, 16 के खिलाफ हत्या का प्रयास, 14 महिलाओं के खिलाफ अपहरण तथा सात के खिलाफ भडकाऊ भाषण देने के आरोप वाले मामले लंबित हैं।

दागी महिलाओं में भाजपा की 53 महिला प्रत्याशियों में 18, कांग्रेस की 54 में से 14, बसपा की 24 में से दो, तृणमूल कांग्रेस की 23 में से छह महिलाओं के खिलाफ आपराधिक मामले लंबित हैं। जबकि 222 निर्दलीय प्रत्याशियों में 22 महिलाएं दागियों की फेहरिस्त में शामिल हैं।

संगीन मामलों में लिप्त महिलाओं में कांग्रेस की दस, भाजपा की 13, बसपा की दो, तृणमूल कांग्रेस की चार और 21 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं। गौरतलब है कि पिछले सोलहवीं लोकसभा के चुनाव में 87 महिलाओं समेत 1404 दागियों में से 186 और 2217 करोड़पतियों में 442 प्रत्याशी जीतकर लोकसभा में दाखिल हुए थे।

जहां तक महिला प्रत्याशियों का सवाल है पिछले चुनाव में 87 दागी महिला प्रत्याशियों में 51 के खिलाफ संगीन आपराधिक मामले लंबित थे।

करोड़पतियों में भाजपा-कांग्रेस आगे

लोकसभा चुनाव-2019 में 255 करोड़पति महिलाओं में से भाजपा और कांग्रेस ने 44-44 महिलाओं को अपना प्रत्याशी बनाया है। इसके बाद तृणमूल कांग्रेस की 15, बसपा की नौ को प्रत्याशी बनाया है। इसके अलावा 43 निर्दलीय रूप से चुनावी जंग लड़ रही महिलाएं भी करोड़पतियों की सूची में शामिल हैं।

महिलाओं में हेमा सबसे अमीर

यूपी की मथुरा लोकसभा सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रही अभिनेत्री एवं भाजपा सांसद हेमामालिनी 250.82 करोड़ की संपत्ति के साथ पहले पायदान पर हैं। जबकि आंध्र प्रदेश की राजमपेट सीट से तेदेपा प्रत्याशी डीए सत्या प्रभा 220.48 करोड़ की संपत्ति के साथ दूसरे और पंजाब की बठिंडा सीट से शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर 217.99 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ तीसरे स्थान की महिला प्रत्याशी हैं।

गरीब महिलाओं का सियासी दांव

इस लोकसभा चुनाव में जहां आठ निर्दलीय महिला प्रत्याशियों ने अपनी संपत्ति शून्य घोषित की है, वहीं पंजाब की जालंधर सीट से अंबेडकर नेशनल कांग्रेस की प्रत्याशी उर्मिला के पास मात्र 295 रुपये ही उसकी मात्र संपत्ति है।

Share it
Top