Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जेपी नड्डा बोले- पीएम मोदी के नेतृत्व में शाह की रणनीति से धारा 370 को जम्मू-कश्मीर से हटा दिया गया, नेहरू के विचारों से...

नेहरू के विचारों से अलग होकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया और भारतीय जनसंघ की स्थापना की। भारतीय जनसंघ की स्थापना का कारण नेहरू जी की तुष्टीकरण की नीति थी, जिससे वो दुखी और चिंतित थे।

जेपी नड्डा बोले- पीएम मोदी के नेतृत्व में शाह की रणनीति से धारा 370 को जम्मू-कश्मीर से हटा दिया गया, नेहरू के विचारों से...
X

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने बुधवार को नई दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी (Dr. Syama Prasad Mookerjee) को उनकी जयंती पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर जेपी नड्डा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि आज भाजपा (BJP) के करोड़ों कार्यकर्ता डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जन्म जयंती मना रहे हैं। हम सभी को मालूम है कि 6 जुलाई, 1901 को महान राष्ट्रभक्त, महान देभक्त, सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के उद्योतक और महान शिक्षाविद् स्व. डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म हुआ था।

एक महान विचारक, महान शिक्षाविद् डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने बहुत कम समय में औद्योगिक नीति से भारत को मजबूती प्रदान करने का प्रयास किया। नेहरू के विचारों से अलग होकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया और भारतीय जनसंघ की स्थापना की। भारतीय जनसंघ की स्थापना का कारण नेहरू जी की तुष्टीकरण की नीति थी, जिससे वो दुखी और चिंतित थे। मुखर्जी जी ने कहा कि नेहरू जी आप जो जम्मू-कश्मीर में धारा 370 लगा रहे हैं वो देश के लिए घातक है।

डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने नारा दिया कि 'एक देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान' नहीं चलेंगे। इस बात को लेकर 11 मई को जम्मू-कश्मीर में बिना परमिट के सत्याग्रह किया। 11 मई को उनकी गिरफ्तारी हुई और श्रीनगर की जेल में 23 जून की प्रात: उनका रहस्मय तरीके से निधन हुआ। रहस्मय तरीके से हम लोगों ने अपने प्रिय नेता को खो दिया, लेकिन भारतीय जनसंघ और भाजपा ने उनकी यात्रा को सफल बनाने के लिए वर्षों से लगे रहे। मुझे खुशी है कि अदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में और अमित शाह की रणनीति से धारा 370 को जम्मू-कश्मीर से हटा दिया।

और पढ़ें
Next Story