Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानें कौन थे वाई-फाई के बारे में दुनिया को बताने वाले निकोला टेस्ला, ऐसे हुई थी शुरुआत

अमेरिकी आविष्कारक और इंजीनियर निकोला टेस्टा का ही वाई-फाई का जनक माना जाता है। जिन्होंने दुनिया को बिना तार के एक जगह से दूसरी तरह तक सिग्नल भेजने का जनक माना जाता है।

जानें कौन थे वाई-फाई के बारे में दुनिया को बताने वाले निकोला टेस्ला, ऐसे हुई थी शुरुआतनिकोला टेस्टा

अमेरिकी आविष्कारक और इंजीनियर निकोला टेस्टा का ही वाई-फाई का जनक माना जाता है। जिन्होंने दुनिया को बिना तार के एक जगह से दूसरी तरह तक सिग्नल भेजने का जनक माना जाता है। 7 जनवरी 1943 को उनका निधन न्यूयॉर्क में हुआ था। उन्होंने ट्रांसफॉर्मर, मोटर्स, रेडियो तकनीक को जमकर बढ़ावा दिया।

निकोला टेस्ला को शांति और विज्ञान के नाम पर सभी देशों के लिए एक शक्ति और प्रेरणा का प्रतीक मना जाता है। वो वैज्ञानिक विकास के क्षेत्र में अपने समकालीनों से कहीं आगे थे और एक दूरदर्शी सोच के व्यक्ति थे। उनकी याद में अमेरिका ने 10 जुलाई निकोला टेस्ला दिवस घोषित कर रखा है। इस दिन उनका जन्मदिन मनाया जाता है।

निकोला टेस्ला का जन्म 10 जुलाई 1856 लाइका में हुआ था। उनके पिता मिलुटिन टेस्ला एक सर्बियाई रूढ़िवादी थे। प्रारंम्भिक शिक्षा यहां से लेने के बाद उन्होंने साल 1873 में ऑस्ट्रिया में पॉलिटेक्निक संस्थान और प्राग विश्वविद्यालय में अध्ययन किया। सबसे पहले उन्होंने भौतिकी और गणित में उपलब्धि हासिल की।

साल 1881 में बुडापेस्ट में एक टेलीफोन कंपनी के साथ एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर के रूप में अपना करियर शुरू किया। उन्होंने इसी दौरान पॉलीफेज सिद्धांत का उपयोग करके जेनरेटर का निर्माण किया। प्रत्यक्ष करंट से आपूर्ति किए जाने पर एडिसन के लैंप कमजोर और अक्षम थे।

क्या है वाई-फाई

वायरलेस फिडेलिटी को शॉर्ट में वाईफाई कहा जाता है। वाईफाई एक वायरलेस नेटवर्किंग तकनीक है, जो कंप्यूटर, मोबाइल फोन, आईपैड, गेम कंसोल और अन्य उपकरणों को वायरलेस सिग्नल से बातचीत करता है। बहुत कुछ उसी तरह जिस तरह एक रेडियो एयरवेव पर रेडियो स्टेशन सिग्नल में ट्यून कर सकता है। आपका डिवाइस एक सिग्नल से दूसरे सिग्नल पर बात करता है। जो इसे हवा के माध्यम से इंटरनेट से जोड़ता है। आज दुनिया में इसका सबसे ज्यादा यूज होता है।

Next Story
Top