Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पैंगोंग से सैनिकों के पीछे हटने के बाद भारत-चीन के बीच आज 10वें दौर की वार्ता

कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control- LaC) (एलएसी) के चीन (China) की तरफ मोल्दो सीमा बिंदु (Moldo border point) पर शुरू होगी।

पैंगोंग से सैनिकों के पीछे हटने के बाद भारत-चीन के बीच आज 10वें दौर की वार्ता
X

भारत-चीन (India-China) की सेनाओं के वरिष्ठ कमांडर के बीच आज 10वें दौर की एक उच्च स्तरीय बातचीत होने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जिसमें दोनों सेनाओं के कमांडर्स की ओर से पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में पैंगोंग झील (Pangong Lake) के उत्तरी और दक्षिणी तट (Northern and southern coast) से सैनिकों और सैन्य सोजोसामान को पीछे हटाने का काम पूरा होने के बाद इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने पर बातचीत की जाएगी।

खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक, कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control- LaC) (एलएसी) के चीन (China) की तरफ मोल्दो सीमा बिंदु (Moldo border point) पर शुरू होगी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 9 महीने के गतिरोध के बाद भारत और चीन के सेना के बीच सहमति बनी, दोनों पक्ष 'चरणबद्ध तरीके से, समन्वित और सत्यापन योग्य' तरीके से पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी तटों से अपने जवानों को पीछे हटाएंगे। 10 फरवरी से सेनाओं के पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू हुई।

आपके बता दें कि केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 11 फरवरी दिन गुरुवार को संसद में एक बयान में कहा था। राजनाथ सिंह ने अपने बयान में कहा था, चीन अपने सैनिकों की टुकड़ियों को हटाकर पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे में फिंगर 8 इलाकों के पूरब की दिशा में ले जाएगा।

इसके अलावा राजनाथ सिंह ने कहा था कि वहीं भारत अपनी सैन्य टुकड़ियों को फिंगर 3 के पास अपने स्थायी ठिकाने धन सिंह थापा पोस्ट पर रखेगा। ठीक इसी तरह की कार्रवाई दक्षिणी किनारे वाले क्षेत्र में भी दोनों पक्ष करेंगे।

Next Story