Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Delhi Election 2020: प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर की सवालों की बौछार, यूपी के हालत भी बताए

Delhi Election 2020: प्रियंक गांधी ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि एक रिपोर्ट के अनुसार सात सेक्टर्स में 3.5 करोड़ नौकरियां कम हुई हैं। लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी इसका कोई जिक्र नहीं करते हैं।

Delhi Election 2020: प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर की सवालों की बौछार, यूपी के हालत भी बताएप्रियंका गांधी चुनावी रैली

Delhi Election 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सक्रिय हो गई हैं। प्रियंका गांधी ने दिल्ली के संगम विहार में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी सरकार को टारगेट किया है। इस दौरान प्रियंका गाधी ने मोदी सरकार पर सवालों की भी बौछार कर दी।

प्रियंक गांधी ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि एक रिपोर्ट के अनुसार सात सेक्टर्स में 3.5 करोड़ नौकरियां कम हुई हैं। लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी इसका कोई जिक्र नहीं करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि क्या पीएम बता सकते हैं कि ये रोजगार का घटना संयोग है या प्रयोग है?

सचमुच मोदी की रफ्तार बहुत फास्ट है

35 सालों में जो बेरोजगारी का दर इतना ऊंचा हुआ है ये क्या संयोग था या प्रयोग था? पीएम कहते हैं विपक्ष उन्हें काम नहीं करने देता। लेकिन वो फिर भी बड़ी तेजी से काम कर रहे हैं। यह सच है बड़ी तेजी से काम हो रहा है, बड़ी सरकारी कंपनियां तेजी से बिक रही हैं। एलआईसी बेच डाली, एयर इंडिया बेच डाली, बीपीसीएल बेच डाला, बीएसएनएल बेच डाला, यहां तक कि रेवले को भी बेचने की योजना चल रही है। सचमुच उनकी रफ्तार बहुत फास्ट है।

कांग्रेस सरकार ने 14 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला

प्रियंका गांधी ने अपनी कांग्रेस सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने 14 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला। पांच सालों में जिस तेजी से इन्होंने लोगों को गरीबी में वापस डाला है, उसका कोई अनुमान भी नहीं लगा सकता।

यूपी में बेरोजगारी की दर सबसे ज्यादा

प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के जिक्र करते हुए कहा कि यूपी में बेरोजगारी की दर सबसे ऊंची है। हर दो मिनट में एक महिला के साथ बलात्कार होता है। हर 90 मिनट में एक बच्चे के साथ अपराध होता है।

हर रोज 30 दलितों के साथ अत्याचार होता है। हत्या के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश में हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश में वर्तमान समय में शिक्षा का स्तर सबसे नीचे है। स्वास्थ्य सबसे नीचे। करीब 70 हजार युवा शिक्षक भर्ती के लिए इंतजार कर रहे हैं। ये हालात है उत्तर प्रदेश के।

Next Story
Top