Logo
election banner
Jayant Singh on Bharat Ratna: केंद्र सरकार की ओर से अपने दादा चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न दिए जाने पर उनके पोते और आरएलडी सुप्रीमो जयंत चौधरी ने खुशी जाहिर की। सोशल मीडिया पर लिखा- दिल जीत लिया।

Jayant Singh on Bharat Ratna: केंद्र सरकार की ओर से शुक्रवार को तीन व्यक्तियों को मरणोपरांत भारत रत्न देने की घोषणा की गई। पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा और चौधरी चरण सिंह का नाम इसमें शामिल हैं। अपने दादा चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न मिलने पर राष्ट्रीय लोक दल (आरएलएडी) के मुखिया जयंत चौधरी ने खुशी जाहिर की। जयंत चौधरी ने भारत रत्न के ऐलान से जुड़े पीएम मोदी पर कुछ ही मिनटो बाद अपनी प्रतिक्रिया दी। सोशल मीडिया एक्स पर लिखा- दिल जीत लिया।

मैं किस मुंह इनकार करूं: जयंत
वहीं, जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि क्या वह बीजेपी के साथ हाथ मिलाने के लिए तैया हो गए हैं तो उन्होंने कहा- 'देखिए कोई कसर रहती है, आज मैं किस मुंह से इनकार करूं आपके सवालों का। बता दें कि बीजेपी और आरएलडी के बीच गठबंधन होना तय हो चुका है। साथ ही सीट शेयरिंग को लेकर भी सहमति बन चुकी है।

आरएलडी को मिल सकती हैं दो लोकसभा सीटें
मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक बीजेपी आरएलडी को दो लोकसभा सीटें और एक राज्यसभा सीट देने के लिए राजी हुई है। जयंत चौधरी  को बागपत और बिजनौर की सीटें दी जा सकती हैं। साथ ही उनकी पत्नी को राज्यसभा में भेजा जा सकता है। फिलहाल आरएलडी से मंत्री पद देने के बारे में कोई बातचीत नहीं हुई है। 

दो दिन पहले तक इंडी गठबंधन में थे जयंत
सूत्रों के हवाले से आई खबरों के मुताबिक भाजपा ने जयंत चौधरी को यूपी कैबिनेट में दो मंत्री पद देने का भी भरोसा दिया है। हालांकि आरएलडी ने केंद्र के मोदी कैबिनेट में भी एक मंत्री पद मांगी है। बता दें कि दो दिन पहले तक जयंत चौधरी इंडी गठबंधन का हिस्सा माना जा रहे थे। पिछले महीने ही आरएलडी ने अखिलेश यादव की अगुवाई वाली समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया था। दोनों के बीच छह लोकसभा सीटों के लिए सहमति बनी थी। 

जयंत को लेकर क्या बोले अखिलेश
8 फरवरी जब जयंत चौधरी के बीजेपी में जाने की सुगबुगाहट तेज हुई तो अखिलेश यादव ने कहा कि जयंत चौधरी एक सुशिक्षित व्यक्ति हैं, वह राजनीति को समझते हैं। शिवपाल यादव ने कहा कि जयंत कहीं नहीं जाएंगे। वहीं, जब शुक्रवार को जयंती चौधरी ने खुद पुष्टि कर दी कि वह बीजेपी के साथ जा रहे हैं तो अखिलेश पलट गए। अखिलेश ने कहा कि उनकी आरएलडी के साथ कोई बातचीत ही नहीं हुई थी। 

5379487