Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bank से रेहड़ी चालक ले सकते हैं 10 हजार रुपये तक का ऋण

दादरी नगर परिषद (City Council) के कार्यकारी अधिकारी मनोज यादव ने टाऊन वेंडिंग कमेटी की बैठक में यह जानकारी दी। नगर परिषद कार्यालय में आयोजित हुई इस बैठक में उन्होंने बताया कि एक जुलाई 2020 से यह स्कीम शुरू हो रही है।

Bank से रेहड़ी चालक ले सकते हैं 10 हजार रुपये तक का ऋणदादरी। बैठक में उपस्थित बैंक व नप अधिकारी।

हरिभूमि न्यूज, चरखी दादरी।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत रेहड़ी चालक (Street driver) 10 हजार रुपये तक का ऋण बैंक से ले सकते हैं। वेंडर आसान किश्तों में जमा कर सकता है। ऋण पर ब्याज में अनुदान भी दिया जा रहा है। दादरी नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी मनोज यादव ने टाऊन वेंडिंग कमेटी की बैठक में यह जानकारी दी। नगर परिषद कार्यालय में आयोजित हुई इस बैठक में उन्होंने बताया कि एक जुलाई 2020 से यह स्कीम (scheme) शुरू हो रही है।

10 हजार रुपये का लोन लेने के लिए रेहड़ी चालक को कोई अतिरिक्त खर्च (additional expenses) नहीं देना है। यह ऋण कम ब्याज दरों पर दिया जाएगा और इसे लाभार्थी आसान सी किश्तों में जमा कर सकता है। जिन स्ट्रीट वेंडराें के पास वेंडिग पहचान पत्र है अथवा जिनको सर्वेक्षण में चिन्हित किया गया है, वे इस योजना में शामिल हो सकते हैं। यह पहचान पत्र नहीं है तो नगर परिषद से एक अनुमोदन पत्र बनवा कर भी स्कीम के लिए आवेदन किया जा सकता है। मनोज यादव ने रेहड़ी चालक एसोसिएशन के प्रधान बलवान सिंह को कहा कि वह अधिक से अधिक वेंडरों को यह लोन लेने के लिए प्रेरित करे।

बैठक में पीएनबी के जिला अग्रणी प्रबंधक विजय कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन में रेहड़ी चालकों को हुए आर्थिक नुकसान को देखते हुए यह स्कीम शुरू की है। सभी बैंक प्रबंधक अगले तीन माह में यह लोन देना सुनिश्चित करेंगे। समय पर ऋण वापस करने पर अगला लोन भी लिया जा सकता है। 10 हजार रुपये के ऋण पर सात प्रतिशत की ब्याज सब्सिडी एवं डिजीटल लेन-देन पर कैशबैक का लाभ मिलेगा। विजय कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार ने डीआरआई जैसी कई योजनाएं छोटे दुकानदारों व कामगारों के लिए शुरू की हुई है। इनकी जानकारी बैंक, एलडीएम ऑफिस, नगरपरिषद, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण से ली जा सकती है।

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन की वित्तीय विशेषज्ञ रश्मि शर्मा ने बताया कि कोविड-19 की महामारी में कामगार तबका सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। अब लॉकडाउन खुलने पर फिर से रेहड़ी चालक अपनी आजीविका को शुरू कर सकें, इसके लिए एक जुलाई से यह स्कीम शुरू हो रही है। आधार कार्ड व विक्रेता पहचान पत्र दिखाकर पथ विक्रेता यह ऋण ले सकते हैं। यह आवेदन ऑनलाइन किया जाएगा और इसे शहर के किसी भी सीएससी सेंटर से एप्लाई किया जा सकता है। इस मौके पर दादरी शहर के नगर पार्षद, भिवानी सैंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के प्रबंधक सत्यवान, दिलबाग सिंह, सौहार्द राज, विनय जोशी, शमीम, हरीश, प्रदीप फौगाट सहित बैंक अधिकारी उपस्थित रहे।


Next Story
Top