Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ellenabad By Poll : सीएम मनोहर के कार्यकाल में हुआ तीसरा उपचुनाव, केवल एक ही जीत सकी भाजपा

ऐलनाबाद से पहले जींद और बरोदा में भी उपचुनाव हो चुका है। जींद में भाजपा को जीत मिली थी जबकि बरोदा की सीट कांग्रेस जीतने में सफल रही। अब ऐलनाबाद में अभय चौटाला लगातार चौथी बार जीते हैं।

Ellenabad By Poll : सीएम मनोहर के कार्यकाल में हुआ तीसरा उपचुनाव, केवल एक ही जीत सकी भाजपा
X

आदमपुर उप चुनाव

हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के अक्तूबर 2014 में सत्ता में आने के बाद अब ऐलनाबाद में तीसरा उपचुनाव ( Ellenabad By Election ) हुआ है। इससे पहले जींद और बरोदा में भी उपचुनाव हो चुका है। जींद में भाजपा को जीत मिली थी जबकि बरोदा की सीट कांग्रेस जीतने में सफल रही। अब तीसरा उपचुनाव ऐलनाबाद में हुआ है। विशेष पहलू यह है कि यह तीनों ही विधानसभा क्षेत्र जाट बाहुल्य हैं और इन तीनों ही विधानसभा सीटों पर भाजपा पहले कभी कमल नहीं खिला सकी थी। जींद में पहली बार भाजपा 2019 में कमल खिलाने में कामयाब हुई।

चौधरी देवीलाल और ओमप्रकाश चौटाला के गृह क्षेत्र में ऐलनाबाद विधानसभा के चुनाव में भी कमल खिलाना भाजपा के लिए बड़ी चुनौती बनी। गौरतलब है कि ऐलनाबाद के अलावा भाजपा के शासनकाल में अब तक दो उपचुनाव हुए हैं और इन दोनों चुनावों में एक-एक सीट जीतकर भाजपा और कांग्रेस बराबरी पर रहे, अब ऐलानबाद में इनेलो ने फिर अपना गढ़ बचा लिया है। जनवरी 2019 में जींद में उपचुनाव हुआ, जिसमें भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार कृष्ण मिढ़ा ने जननायक जनता पार्टी के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह चौटाला को पराजित किया था जबकि कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला तीसरे स्थान पर रहे थे। जींद की सीट इनेलो विधायक हरिचंद मिढ़ा के निधन के चलते खाली हुई थी। ऐसे में यह सीट भाजपा ने इनेलो से छीनी। इसी प्रकार नवम्बर 2019 भाजपा के दूसरे कार्यकाल में बरोदा का उपचुनाव हुआ। बरोदा की सीट कांग्रेस के विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा के निधन के बाद खाली हई थी। बरोदा उपचुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार इंदुराज नरवाल ने भाजपा के योगेश्वर दत्त को 10,566 वोटों के अंतर से पराजित किया। अब तीसरा उपचुनाव ऐलनाबाद में हुआ इनेलो उम्मीदवार अभय सिंह चौटाला ने इनेलो को हराकार चौथी बार जीत दर्ज की।

भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में अब तक ऐलनाबाद के अलावा बरोदा और जींद में उपचुनाव हो चुका है। ये तीनों ही विधानसभा क्षेत्र ही जाट बाहुल्य हैं। जींद में करीब 59 हजार जाट मतदाता हैं जबकि बरौदा में करीब 62 हजार जाट मतदाता हैं। ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र में 37 प्रतिशत करीब 66 हजार जाट मतदाता हैं जबकि जट्ट सिख मतदाताओं की संख्या भी 7 फीसदी है। ऐलनाबाद हलका साल 1967 से लेकर 1972 तक और उसके बाद 2009 से लेकर अब तक यह सामान्य क्षेत्र रहा है और अब तक सामान्य हलके के तौर पर हुए सभी सात सामान्य चुनावों और दो उपचुनावों में जाट चेहरे ही यहां से विधायक चुने गए हैं।

जींद में आमने-सामने थे भाजपा-जजपा, यहां मिलकर लड़ा चुनाव

भाजपा के पहले कार्यकाल में जींद में हुए उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी और जजपा आमने-सामने थे जबकि अब दोनों ने साथ मिलकर ऐलनाबाद उप चुनाव लड़ा और गोबिंद कांडा को टिकट दी। बरोदा का उपचुनाव भी भाजपा और जजपा ने मिलकर लड़ा था और गठबंधन के प्रत्याशी योगेश्वर दत्त दूसरे स्थान पर रहे थे और यहां कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी

और पढ़ें
Next Story