Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में 101 और पंचायतें अस्तित्व में आई, जल्द शुरू होगा वार्डबंदी का काम

सबसे ज्यादा 18 पंचायतों का गठन यमुनानगर जिले में हुआ है। वर्ष 2016 के चुनाव में पंचायतों की संख्या 6212 थी। मई-जून में पंचायतों के आम चुनाव करवाए जा सकते हैं।

हरियाणा में  101 और पंचायतें अस्तित्व में आई, जल्द शुरू होगा वार्डबंदी का काम
X

अमरजीत एस गिल. रोहतक

पंचायती राज संस्थाओं के छठे आम चुनाव का मामला भले ही हाईकोर्ट में विचारधीन हो, लेकिन विकास एवं पंचायत विभाग चुनाव की तैयारियाें में जुटा हुआ है। पंचायत विभाग की तरफ जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक राज्य में 101 और पंचायतें अस्तित्व में आ गई हैं। इसके लिए जल्द ही वार्डबंदी का काम शुरू हो जाएगा। सबसे ज्यादा 18 पंचायतों का गठन यमुनानगर जिले में हुआ है। रोहतक में तीन पंचायतों का गठन किया गया है। इनमें सांघी दुदान, सैमाण पाना टोडर और मदीना गिंधराण प्रथम एवं मदीना गिंधराण द्वितिय शामिल हैं। बताया जा रहा है कि सरकार के पास करीब 200 नई पंचायतों के प्रस्ताव विचारधीन थे। वर्ष 2016 के चुनाव में पंचायतों की संख्या 6212 थी। इसके बाद नगर निगमों का गठन किया गया। कुछ पंचायतों को निगमों में शामिल कर लिया गया। अब नई पंचायतों को मूर्तरूप देने में 55-60 दिन का समय लगेगा। तब तक महिला ऑड आरक्षण को लेकर हाईकोर्ट में विचारधीन मामले की तारीख 20 अप्रैल भी नजदीक आ जाएगी। इस दिन सरकार को न्यायालय में अपना पक्ष रखना है। अगर उस दिन न्यायालय मामले में फैसला कर देता है तो फिर मई-जून में पंचायतों के आमचुनाव करवाए जा सकते हैं।

अब यह करना होगा

नई पंचायतों के गठन बाद उनको मूर्तरूप देने के लिए पंचायत विभाग को 55 से 60 दिन लगेंगे। सबसे पहले रेवन्यू सर्कल ऑफिसर वार्डबंदी करवाएगा। इसमें 15 दिन लगेंगे। इसके बाद वार्डबंदी के दावे और आपत्ति एसडीएम द्वारा सुने जाएंगे। इसमें सात दिन लगेंगे। इसके बाद डीसी भी यही प्रक्रिया अपनाएंगे। इसमें भी एक सप्ताह का समय लगेगा। वार्डबंदी का कार्य संपन्न होने के बाद वोटर लिस्ट तैयार की जाएगी। मतदाता सूची के प्रथम प्रकाशन से लेकर अंतिम प्रकाशन तक 30 दिन का समय लगता है।

जिले में कितनी नई पंचायतें

अम्बाला- 3 - जलबेड़ा, हसनपुर, ऋषिनगर।

भिवानी- 7 में अमीनपुर, ढाणी श्यामा-ढाणी रहीमपुर, समसावास, बडदू जोगी, ढाणी मनसुख, बसीरवास, ढाणी मिट्ठी।

चरखीदादरी - 1-ढाणी गुजरान

फरीदाबाद -3 कबूलपुर पट्टी परवरिश, किडावली, बादशाहपुर।

फतेहाबाद - 3 मानकपुर, ब्राहमणवाला प्लाट, लहराथेह।

गुरुग्राम -4-चमनपुरा, रानी का सिंगोला, राजुपुर, सिवाड़ी की ढाणी।

हिसार -1-ढाणी रायपुर

जींद -1 कर्मगढ़।

कैथल 1- कच्ची पिसौल

करनाल -12 दयालपुरा, बोहली, गोबिंदगढ नन्हेड़ा, कुण्डाकलां, सौदापुर, गढ़ी खजुर पंचायत में से बस्सी अकबरपुर, प्रेमनगर, मलिकपुर गादियान पंचायत बनाई गई है। नगला फार्म, डबरकी पार जम्मूवाला, दारूवाला ततारपुर तथा भरतपुर।

कुरुक्षेत्र -10- डेरा रामनगर, अढौणी, अटल नगर, टयूकर, मुकीमपुर, डेरा पूर्बिया, कलाल माजरा, ढेरू माजरा, शंकर कॉलोनी, त्योडी। उमरी पंचायत के दो हिस्से करके कलाल माजरा और ढेरू माजरा पंचायत बनाई गई है। उमरी अलग से कार्य करेगी।

महेेंद्रगढ़ -4-बामणवास खेता, गंगुताना बखरीजा, गौमली, रावता की ढाणी

नूंह -8- गुण्डवा, बढ़ाह, बड़वा, टेरकपुर, मछरौली नवाबगढ़, खोड़, नवलगढ़

पंचकूला - 7 कर्णपुर ढाण्डा, मशयूण, कनौली, शाहपुर, टांडा जोहलुवाल, भूड़ी, बलौटी

पानीपत -3 रामडा आर, डेरा सिकलीगर, छोटी रजापुर।

पलवल -2 कुरारा शाहपुर, मौहम्मदपुर।

रेवाड़ी -7 डवाना, श्रीनगर, ढाणी राधा, कुम्भावास, ढाणी जरावत, भुरियावास, मालियाकी।

रोहतक - 3, सांघी गांव में पाना दुदान, सैमाण पाना टोडर, मदीना गिंधराण पंचायत को प्रथम और द्वितिय में विभाजित किया गया है।

सिरसा -3 दलीपनगर ढाणी सन्ता सिंह, हिम्मतपुरा।

सोनीपत -3 की फरमाणा पंचायत को फरमाणा महलाण और फरमाणा लुरजाण में बांटा गया है। इसके अलावा खाण्डा अलमाण पाना, ग्यासपुर।

यमुनानगर -18 जनक का माजरा, टेही हरिजन, नत्थनपुर,पिपली माजरा, बनियावाला, नंदगढ़, हथनीकुंड, चिकन, टिबडियों, करतापुर, पासी डेरा, हैदरपुर, शेखपुर, शेरपुर,चुहड़पुर मंगल सिंह, सुन्दर बहादुरगढ़, नाईवाला, रानीपुर खुर्द।

जल्द तैयार होगी मतदाता सूची

विकास एवं पंचायत विभाग ने नई पंचायतों के गठन की अधिसूचना जारी कर दी है। अगले चुनाव में इन पंचायतों के चुनाव करवाए जाएं। इसके लिए सबसे पहले वार्डबंदी और फिर मतदाता सूची तैयार की जाएगी। आरक्षित वर्गों का आरक्षण भी नियमानुसार नई पंचायतों में किया जाएगा। -राजपाल चहल, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, रोहतक

Next Story