logo
Breaking

70% महिलाओं को ब्रेस्टफीडिंग में होती है दिक्कत, स्तनपान न होने के कारण शिशु की सेहत पर पड़ता है असर

वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक 1 अगस्त से 7 अगस्त तक मनाया जाता है। आज वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक का आखिरी दिन है। इस मौके पर हम आपको एक ऐसी रिसर्च के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें 70 प्रतिशत महिलाओं के लिए ब्रेस्टफीडिंग कराना काफी चुनौतीपूर्ण रहा।

70% महिलाओं को ब्रेस्टफीडिंग में होती है दिक्कत, स्तनपान न होने के कारण शिशु की सेहत पर पड़ता है असर

वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक 1 अगस्त से 7 अगस्त तक मनाया जाता है। आज वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक का आखिरी दिन है। इस मौके पर हम आपको एक ऐसी रिसर्च के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें 70 प्रतिशत महिलाओं के लिए ब्रेस्टफीडिंग कराना काफी चुनौतीपूर्ण रहा। मॉम्सप्रेसो और मेडेला की तरफ से ब्रेस्टफीडिंग को लेकर एक रिसर्च की गई।

रिसर्च में 510 महिलाओं को शामिल किया गया। रिसर्च के दौरान इन महिलाओं से ब्रेस्टफीडिंग (स्तनपान) कराने के समय आने वाली तमाम चुनौतियों के बारे बात की गई। साथ ही उन्हें कई सारी जरूरी सलाह भी दी गई।

यह भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी-पीरियड्स जैसी समस्यओं से जुड़े हर सवाल का जवाब जानें यहां

इस रिसर्च का नाम 'भारतीय माताओं के लिए स्तनपान चुनौतियां' रखा गया था। इस दौरान 70 प्रतिशत महिलाओं ने बताया कि उन्हें अपने शिशु को स्तनपान कराना काफी चुनौतीपूर्ण साबित हुआ।

ब्रेस्ट फीडिंग का मां और बच्चे से कनेक्शन

  • बच्चों के लिए स्तनपान के कारण स्वास्थ्य लाभ (98.6%)
  • माता और शिशु के बीच नजदीकी संबंध (73.4%)
  • स्तनपान कराने वाली मां के स्वास्थ्य लाभ (57.5%)
  • स्तनपान के कारण वजन कम होना (39.7%)

यह भी पढ़ें: गर्भावस्था में ऐसे करें हरियाली तीज का व्रत, पूरी होगी सारी मनोकामना

Share it
Top