Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ब्रश नहीं डेंटल फ्लॉस का भी इस्तेमाल करना होता है जरूरी

डेंटल फ्लॉस दातों के बीच पैदा हो रहे हानिकारक बैक्‍टीरिया को खत्म करता है।

ब्रश नहीं डेंटल फ्लॉस का भी इस्तेमाल करना होता है जरूरी

एक मुस्कुराहट हजारों दिल जीत सकती है, लेकिन ऐसी मुस्कुराहट पाने के लिए आपके दातों का खूबसूरत होना भी जरूरी है। हमारे खाने-पीने की गलत आदतों और दांतों की देखभाल ना करने के कारण दांत पीले पड़ना, दांतों में सड़न, कीड़ा लगना, मसूड़ों से पस और खून निकलना जैसी समस्याएं अक्सर हो जाती है।

डेंटल फ्लॉस का इस्तेमाल दांतों में फंसा खाना निकालने के काम आता है। अगर दांतों में खाना, फंसा रह जाता हैं तो कैबिटीज होने का डर रहता है। मीठी चीजें जैसे चॉकलेट और दांतों में चिपकने वाली वस्तुएं एवं भोजन के कण कैबिटीज को पैदा करते हैं, तो खाने के बाद डेंटल फ्लॉस का यूज करना चाहिए। ये दांतों के बीच में फंसे खाने को निकाल कर दांतों के गेप को कम करता है। और यह दांत की सफेदी में भी सहायक होता है।

अगर आप रोजाना अपने दांतों में ब्रश करते हैं, लेकिन अपने दातों पर डेंटल फ्लॉस का इस्तेमाल नहीं करते, तो ये आपके दांतों के लिए हानिकारक है। डेंटल फ्लॉस दातों के बीच पैदा हो रहे हानिकारक बैक्‍टीरिया को खत्म करता है।

डेंटल फ्लॉस का इस्तेमाल भारतीय लोग बहुत कम यूज करते हैं। आमतौर पर ब्रश करने में विश्वास रखते हैं, लेकिन बाहर के शहरों में देखा जाए तो इसका उपयोग बच्चों से लेकर बढ़े करते हैं।

Next Story
Top