Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना महामारी के बीच शुरू हुई लोकल ट्रेन, यात्रियों को इन बातों का पता होना है बहुत जरूरी

काफी महीनों बाद एक बार फिर से मुंबई की लोकल ट्रेन पटरी पर दौड़ने लगी हैं। लोगों को इस बात की जानकारी केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने अपने ट्विटर अकाउंट से दी है। वहीं आपको बता दें कि ट्रेन में सफर करने के लिए यात्रियों के लिए कुछ नियम भी बनाए गए हैं

कोरोना महामारी के बीच मुंबई में शुरू हुई लोकल ट्रेन, यात्रियों को इन बातों का पता होना है बहुत जरूरी
X
मुंबई में शुरू हुई लोकल ट्रेन (फाइल फोटो)

महामारी के लंबे समय के बाद मुंबई में लोकल ट्रेन को फिर चालू कर दिया गया है। काफी महीनों बाद एक बार फिर से मुंबई की लोकल ट्रेन पटरी पर दौड़ने लगी हैं। लोगों को इस बात की जानकारी केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने अपने ट्विटर अकाउंट से दी है। वहीं आपको बता दें कि ट्रेन में सफर करने के लिए यात्रियों के लिए कुछ नियम भी बनाए गए हैं, जिन्हें हम आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं।

स्टाफ की संख्या 1.25 लाख है

राज्य सरकार का कहना है कि यह फेसिलिटी सिर्फ जरूरी सुविधाएं प्रदान करने वाले लोगों के लिए ही होंगी। इसकी पहचान बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) करेगी। वहीं बताया जा रहा है कि अभी तक जरूरी स्टाफ की संख्या 1.25 लाख है।

प्रमाण पत्र ले जाना जरूरी होगा

सफर कर रहे यात्रियों के एंट्री करने के लिए वैध प्रमाण पत्र ले जाना जरूरी होगा। इसके बाद रेलवे यात्री को एक क्यूआर आधारित ई-पास प्रदान करेगा। जिससे उन्हें यात्रा के दौरान कोई परेशानी न हो।

जरूरी सुविधाएं प्रदान करने वालों की पहचान की जाएगी

सुरक्षा को देखते हुए सभी रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा बल और राज्य पुलिस को तैनात किया जाएगा। यही लोग यात्रियों की चेकिंग करेंगे। जिसमें जरूरी सुविधाएं प्रदान करने वालों की पहचान की जाएगी।

लोकल ट्रैन में 1200 यात्रियों को यात्रा की अनुमति

कोरोना वायरस के इंफेक्शन को फैलने से रोकने के लिए ट्रेनों की क्षमता भी कम कर दी गई है। जहां पहले एक लोकल ट्रैन में 1200 यात्रियों को यात्रा की अनुमति थी। वहीं अब केवल 700 यात्री ही ट्रेन में सफर कर सकेंगे।

Also Read: लंबे लॉकडाउन के बाद पर्यटक अब देख सकेंगे एफिल टॉवर

कंटेनमेंट जोन से न हो

सेहतमंद लोगों को ही ट्रेन में सफर करने की अनुमति दी जाएगी। वहीं जो कंटेनमेंट जोन से न हो।

एम्बूलेंस और डॉक्टरों की व्यवस्था की गई

किसी भी इमरजेंसी के लिए हर रेलवे स्टेशन पर एम्बूलेंस और डॉक्टरों की व्यवस्था की गई है।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story