Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अपनी बात कहने में होती है झिझक, तो ऐसे कहें 'मन की बात'

अपनी बात कहने, किसी मुद्दे पर अपनी राय रखने की कला सबके पास नहीं होती है। लेकिन इस कला को सीखना मुश्किल भी नहीं है। बस कुछ बातों को अपने व्यवहार का हिस्सा बनाएं और सबके सामने आसानी से कहें अपने मन की बात।

अपनी बात कहने में होती है झिझक, तो ऐसे कहें मन की बात
X
जानिए कैसे कहें मन की बात

मनीषा एक समझदार और गुणी लड़की है। लेकिन उसके अंदर एक कमी है कि वह अपने मन की बात आसानी से किसी से नहीं कह पाती। मनीषा को एक कंपनी में नौकरी तो मिल गई, लेकिन जब भी कोई अच्छा प्रोजेक्ट आता और मनीषा चाहती कि वह उस प्रोजेक्ट को करे, लेकिन अपनी बात बॉस से न कह पाने के चलते वह प्रोजेक्ट किसी और को मिल जाता। मनीषा मन मसोस कर रह जाती। घर हो या बाहर, वह किसी से भी अपने मन की बात नहीं कह पाती और अंदर ही अंदर घुटती रहती। इस तरह की समस्या कई लोगों को होती है, वे अपने दिल की बात किसी से नहीं कह पाते हैं। ऑफिस, दोस्त और रिश्तेदारों से बात करने में उन्हें घबराहट होती है या गलती के डर से चुप रह जाते हैं। नतीजा उनका हक कोई और ले जाता है। सफलता हासिल करने के लिए अपनी बातों को सही तरीके से दूसरों के सामने रखना जरूरी है। ऋतु सक्सेना बता रही हैं अगर आप भी किसी के सामने अपनी बात रखने से घबराती हैं, तो कुछ टिप्स को अपनाएं। इससे आप कॉन्फिडेंट फील करेंगी, अपनी बात दूसरों के सामने रख पाएंगी।

खुद पर रखें यकीन

अपनी बात किसी के भी सामने रखने के लिए जरूरी है कि आपको खुद पर यकीन हो। आप जब भी किसी से अपने मन की बात करने जा रही हों, तो यह न सोचें कि कैसे बात करेंगी? सामने वाले का रिएक्शन क्या होगा? आप अपने डर को काबू में करें और खुद को भरोसा दिलाएं कि आप अपनी बात सामने वाले तक सही तरीके से पहुंचा पाएंगी। याद रखें कि आपका आत्मविश्वास की आपका सबसे बड़ा साथी है।

रेग्युलर प्रैक्टिस करें

किसी भी काम को परफेक्ट तरीके से करने के लिए रेग्युलर प्रैक्टिस करना जरूरी है। यही बात किसी के सामने अपनी बात न रख पाने के डर को दूर करने के मामले में भी लागू होती है। आपको अगर अपनी बात किसी से कहने में डर लगता है तो आप प्रैक्टिस पर फोकस करें। इसके लिए आप आइने के सामने खड़ी हो जाएं और सोंचे कि सामने जिससे बात कहनी है, वह खड़ा है और फिर पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी बात कहें। ऐसा रोज करें। धीरे-धीरे आपको महसूस होगा कि आपका डर अब दूर हो गया है और आप अपनी बात आसानी से किसी से भी कह पा रही हैं।

मुस्कुरा कर कहें बात

कहा गया है कि मुस्कुरा कर अगर कोई बात की जाए तो उसका असर ज्यादा पड़ता है। अगर आपको अपनी बात कहने में हिचक हो रही है तो आप मुस्कुराहट से काम लें। ऑफिस में अपने बॉस के सामने या किसी पब्लिक प्लेस पर बात करते समय मुस्कुराकर अपनी बात की शुरुआत करें। इससे आपका मानसिक तनाव कम होगा और आपके अंदर अपनी बात रखने का आत्मविश्वास भी आएगा।

जानकारी के साथ करें बात

अगर आप ऑफिस में अपनी बात कहने के लिए सोच रही हैं, लेकिन आपको डर है कि आप कह पाएंगी या नहीं। तो सबसे पहले जरूरी है कि आपकी तैयारी पूरी हो। आपको बातचीत के सब्जेक्ट की पूरी जानकारी होना जरूरी है।

याद रखें कि जिस मुद्दे या सब्जेक्ट पर आप बात करने जा रही हैं, उसके बारे में पहले सारी जानकारी जुटा लें फिर योजना बनाकर अपनी बात सही समय पर सही व्यक्ति से कहें। अगर आपको पूरी जानकारी होगी तो आप अपनी बात को रखने में हिचकेंगी नहीं। एक परफेक्ट प्लान के साथ बात रखने से सब आपकी बात सुनेंगे भी और मानेंगे भी।

नोट : इन छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखकर, इन्हें अमल में लाकर आपको कभी भी अपनी बात कहने में हिचक नहीं होगी। इससे आपकी पर्सनालिटी में पॉजिटिव चेंज आएगा, जो आपको सफलता की राह पर आगे बढ़ने में मदद करेगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story