Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Devar Bhabhi: देवर भाभी के रिश्ते में लानी है मिठास, तो करें ये उपाय

Devar Bhabhi: हर लड़की के लिए ससुराल में वैसे तो हर रिश्ता नया होता है। लेकिन घर में पति के छोटे भाई और बहन एक ऐसा माध्यम होते हैं। जिससे ससुराल के सभी रिश्तों को जानने और समझने में मदद करते हैं। लेकिन कई बार देवर-भाभी के रिश्ते में कुछ गलतफहमियों की वजह से दरार आ जाती है। ऐसे में अगर दोनों तरफ से कुछ प्रयास किए जाएं, तो आसानी से रिश्तों को मधुर बनाया जा सकता है। इसलिए आज हम आपको देवर-भाभी के रिश्ते में सुधार करने के उपाय (Improving Devar Bhabhi Relationship tips) बता रहे हैं।

Devar Bhabhi
X
Devar Bhabhi Releationship

Devar Bhabhi: : हर लड़की के लिए ससुराल में वैसे तो हर रिश्ता नया होता है। लेकिन घर में पति के छोटे भाई और बहन एक ऐसा माध्यम होते हैं। जिससे ससुराल के सभी रिश्तों को जानने और समझने में मदद करते हैं। लेकिन कई बार (Devar Bhabhi) देवर-भाभी के रिश्ते में कुछ गलतफहमियों की वजह से दरार आ जाती है। ऐसे में अगर दोनों तरफ से कुछ प्रयास किए जाएं, तो आसानी से रिश्तों को मधुर बनाया जा सकता है। इसलिए आज हम नवरात्रि के अवसर पर आपको देवर-भाभी के रिश्ते में सुधार लाने वाले उपाय (Improving Devar Bhabhi Relationship tips) बता रहे हैं।

देवर-भाभी के रिश्ते में सुधार लाने वाले उपाय :




1. ससुराल में देवर-भाभी का रिश्ता बेहद खास होता है। आमतौर पर देवर-भाभी के रिश्ते को एक-दूसरे के साथ हल्की छेड़छाड़ और मस्ती करने वाला संबंध माना जाता है। अगर आपके रिश्ते में किसी वजह से दरार आ गई है, तो उसे सुलझाने के लिए आपस में बातचीत करके या बड़ों के साथ मिलकर रिश्ते को सामान्य कर सकते हैं। याद रखें ये कोशिश किसी गंभीर मामले में नहीं करनी चाहिए। नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।




2. ससुराल में देवर भाभी के रिश्ते की तुलना मां-बेटे के रिश्ते से की जाती है। ऐसे में अक्सर दोनों को ही एक-दूसरे की मां-बेटे की तरह ही केयर हमेशा करनी चाहिए। अगर रिश्ते में कोई दरार भी है, तो भी उसे भुलाकर मुश्किल के समय में साथ देना चाहिए। नवरात्रि में मां दुर्गा के बीज मंत्र (ऊं दुं दुर्गाय नम:) का नियमित रूप से जाप करें।




3.ससुराल में देवर भाभी के रिश्ते की तुलना मां-बेटे के रिश्ते से की जाती है। ऐसे में अक्सर दोनों को ही एक-दूसरे की मां-बेटे की तरह ही केयर हमेशा करनी चाहिए। अगर रिश्ते में कोई दरार भी है, तो भी उसे भुलाकर मुश्किल के समय में साथ देना चाहिए। नवरात्रि में मां दुर्गा के बीज मंत्र (ऊं दुं दुर्गाय नम:) का नियमित रूप से जाप करें।









4. ससुराल में देवर भाभी का रिश्ता, मां-बेटे के रिश्ते के साथ ही दोस्तों वाला भी होता है। ऐसे में आप एक-दूसरे के स्पेशल डे यानि बर्थ डे, एनिवर्सरी पर स्पेशल पार्टी या गिफ्ट देकर स्पेशल महसूस करवा सकते हैं। नवरात्रि में मां दुर्गा को श्रृंगार का सामान भेंट करें।




5.ससुराल में शादी के बाद लड़की एक नए परिवार में जाती हैं। जहां वो खुद को अकेला महसूस करती है। ऐसे में अगर देवर भाभी को परिवार, परिवार के लोगों और अन्य मामलों में हेल्प या सपोर्ट करता है,तो इससे रिश्ते को मजबूती मिलती है, साथ ही एक नया बॉड भी बनता है। नवरात्रि में मां दुर्गा को कन्या पूजन करवाएं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story